दोहरे हत्याकांड का मुल्जिम गिरफ्तार


खमनोर । पुलिस थाना खमनोर ने 15 दिन पूर्व हुए दोहरे हत्याकाण्ड के मुल्जिम को गिरफ्तार कर लिया है।
जिला पुलिस अधीक्षक, राजसमन्द भुवन भूषण यादव ने बताया कि आज से करीब 15 दिन पहले दम्पति भंवरसिंह पिता शिवसिंह राजपुत, उम्र 75 साल व श्रीमती घीसीबाई पत्नी भंवरसिंह राजपुत, उम्र 70 साल निवासीयान काडों का गुडा, बडा भाणुजा, थाना खमनोर, जिला राजसमन्द की हत्या के मुल्जिम हिम्मतसिंह पिता प्रतापसिंह राजपुत, उम्र 25 साल, निवासी सरवडियो की भागल, गांवगुडा, थाना खमनोर, जिला राजसमन्द को हत्या करने के आरोप में गिरफ्तार किया है। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि नाथुसिंह पिता भंवरसिंह राजपुत, उम्र 50 साल, निवासी काडो का गुडा, थाना खमनोर ने 16 अक्टूबर2019 को प्रकरण दर्ज करवाया कि उसके पिता भंवरसिंह व माता घीसी बाई दोनों डेकलानामी खेत पर बने मकान में रहते थे। वह ऊंझा गुजरात में मजदूरी करता है व उसका लडका खुमाणसिंह गांव में अपने परिवार के साथ रहता है। वह 15 दिन पहले ऊंझा गया था। उसे उसके लडके खुमाणसिंह ने फोन कर बताया कि दादा दादी दो-तीन दिन से घर पर नहीं है और घर के बाहर से ताला लगाया हुआ है। इस पर वह वापस ऊंझा से गांव आया व माता पिता के बारे मे मालुमात किया तो गांव वालो ने बताया कि माता पिता शनिवार सुबह गांव में ही घुम रहे थे। इसके बाद वह खेत पर गया तो घर के अन्दर से बदबू आ रही थी व बाहर ताला लगा हुआ था। इस पर गांव वालों व पुलिस को सूचना दी। पुलिस द्वारा घटनास्थल पर पहुंच कर बाहर का ताला तोड अन्दर गये तो देखा कि पिताजी खाट पर व मां घीसी बाई फर्श पर मृत अवस्था में पडे हुये थे। घर का सारा सामान भी बिखरा हुआ था। किसी अज्ञात बदमाशान द्वारा उन दोनों की हत्या की गई थी। वगैरा पर थाना हाजा पर प्रकरण संख्या 224/19 धारा 302 भादस में दर्ज कर अनुसंधान प्रारम्भ किया गया।

मामले की गम्भीरता को देखते हुये अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, राजसमन्द राजेश कुमार गुप्ता के निर्देशन में 2 टीमों का गठन किया गया। जिसमें प्रथम टीम के प्रभारी रोशनलाल पटेल वृताधिकारी नाथद्वारा जिसमें पुलिस निरीक्षक शैतानसिंह नाथावत, थानाधिकारी केलवाडा, पेशावर खान थानाधिकारी कुंवारिया, पवनसिंह हैड कॉन्स्टेबल, शिवदर्शनसिंह कॉन्स्टेबल, बाबुसिंह कॉन्स्टेबल, रामकरण डुडी कॉन्स्टेबल, विरेन्द्रसिंह , मोहित कुमार कॉन्स्टेबल एवं द्वितीय टीम के प्रभारी नरपतसिंह, वृताधिकारी कुम्भलगढ जिसमे पुलिस निरीक्षक छगन पुरोहित, पुलिस निरीक्षक जितेन्द्र आंचलिया थानाधिकारी नाथद्वारा, सुनील शर्मा थानाधिकारी खमनोर, हैड कॉन्स्टेबल भगवानसिंह, हैड कॉन्स्टेबल उदयलाल गुर्जर, हैड कॉन्स्टेबल घनश्यामसिंह, कॉन्स्टेबल मदनसिंह,पवन कुमार, जोधाराम, हिराराम, प्रवीण को शामिल किया गया।पुलिस द्वारा अपने स्तर पर मुखबिर मामुर किये गये। घटनास्थल पर एमओबी टीम व एफएसएल टीम द्वारा भी साक्ष्यों का संकलन किया गया। महानिरीक्षक पुलिस उदयपुर रेंज उदयपुर द्वारा भी घटनास्थल का मुआयना किया गया। घटनास्थल के आलामात देखकर यह बात तय थी कि इस जघन्य अपराध को कारित करने में किसी परिचित का ही हाथ होने की संभावना ज्यादा थी। इसमें सर्वप्रथम पुलिस ने अपने अनुसंधान का केन्द्र बिन्दु परिचितों पर ही रखा व परिचितों से अलग अलग गहन पूछताछ की गई। साथ ही चालानशुदा अपराधियों के बारे में भी मालूम किया गया। इसी दौरान जरिये मुखबिर इतला मिली कि उक्त दम्पति की हत्या में हिम्मतसिंह पिता प्रतापसिंह राजपुत, उम्र 25 साल, निवासी सरवडियो की भागल, गांवगुडा, थाना खमनोर, जिला राजसमन्द का हाथ हो सकता है। जिस पर पेशावर खान उप निरीक्षक के नेतृत्व में एक टीम जिसमें पवन सिंह हैड कानि., शिवदर्शनसिंह कानि, बाबुसिंह कानि व रामकरण कानि थे। उक्त टीम को हिम्मतसिंह की तलाश में रवाना किया गया। टीम के द्वारा अथक प्रयास कर संदिग्ध हिम्मतसिंह को डिटेन किया जाकर थाना खमनोर पर लाया गया, जिस पर गहनता व मनोवैज्ञानिक तरीके पूछताछ की गई तो उक्त संदिग्ध हिम्मतसिंह ने अपना जुर्म स्वीकार किया। इस पर मंगलवार को हिम्मतसिंह पिता प्रतापसिंह को गिरफ्तार किया गया। मुल्जिम द्वारा घटना के वक्त घटनास्थल से सामान, जेवरात व नकदी चुराई थी, जिसके बारे में पूछताछ की जा रही है व आगामी अनुसंधान जारी है।

परिचित है मुल्जिम – मुल्जिम हिम्मतसिंह मृतक भंवरसिंह व घीसीबाई के पोते खुमाणसिंह पिता नाथुसिंह का सगा साला है। मुल्जिम के बहन की शादी मृतक भंवरसिंह के पोते खुमाणसिंह के साथ व खुमाणसिंह की बहन की शादी मुल्जिम के भाई शिवसिंह के साथ आटेसाटे में हो रखी थी। परिचित होने की वजह से हिम्मतसिंह का मृतक दम्पति के घर पर आना जाना लगा रहता था। मुल्जिम ने रिश्तेदारी की आड में उक्त घटना को अंजाम दिया।

शातिर है अपराधी -उक्त मुल्जिम हिम्मतसिंह शातिर दिमाग का है मुल्जिम ने पूर्व योजना के तहत इस घटनाक्रम को अंजाम दिया, मुल्जिम घटना के दिन दम्पति के घर पर आया। दम्पति देर रात को आने का कारण पूछा तो उसने बताया कि मेरी मोटर साईकिल का पास में ही पेट्रोल खत्म हो गया है इस कारण आज रात मै यही रूकूंगा। वक्त रात्रि का होने से व मुल्जिम मृतक दम्पति का परिचित होने से उन्होने मुल्जिम को रूकने के लिये कहा। रात्रि के वक्त दम्पति को प्यास लगी तो उक्त मुल्जिम पूर्व में कोल्हापुर भंगार की दुकान पर काम करता था जहां से उसने जहर की एल्युमिनियम की डिब्बी चोरी कर अपने पास ही रखी थी। मृतक दम्पति के पानी मांगने पर उक्त मुल्जिम जहर को पानी में मिला कर दम्पति को पिला दिया तथा इसके बाद मृतक दम्पति का गला दबाकर हत्या कर दी। दम्पति की मौत होने के बाद उक्त मुल्जिम घर की पेटी व मंजुषा के ताले तोड कर उसमें रखे जेवरात, नकदी व अन्य सामान चुरा लिया और घर से बाहर निकलकर घर का बाहर से ताला लगाकर वहां से फरार हो गया था।

मुल्जिम ऐश मौज का है शौकिन – मुल्जिम हिम्मतसिंह ऐशमौज करने का शौकिन है। मुल्जिम के पास करीब तीन लाख की मोटरसाईकिल व महंगा मोबाईल है। मुल्जिम के उपर काफी मात्रा में लोगो की उधारी बाकी है। ऐशमौज करने के कारण मुल्जिम ने जगह जगह से उधारी ले रखी है। पूछताछ में मुल्जिम ने बताया कि उसके उपर काफी मात्रा में कर्जा हो गया था। मागने वाले लोग बार बार तकाजा कर रहे थे। मुल्जिम ने बताया की वह मृतको के दूर का रिश्तेदार होने की वजह से उनके घर आना जाना लगा रहता था। इसी दौरान मुल्जिम को मालुम पडा की भवरसिंह के खेत वाले मकान पर काफी मात्रा में जेवरात व नकदी हो सकते है मुल्जिम को अपने शौक पुरे करने के लिए इससे आसान कोई रास्ता नजर नहीं आया और उसने उक्त घटनाकारित की।

सम्मानित होगी पुलिस टीम -जिला पुलिस अधीक्षक, राजसमन्द ने बताया कि अपराध बहुत ही जघन्य था तथा पुलिस के लिए चुनौतीपूर्ण था। पुलिस टीम ने अपने स्तर पर अथक प्रयास कर व रात दिन एक कर वृद्ध दम्पति की हत्याकाण्ड का खुलासा किया। इस हेतु उक्त टीम का हौसला अफजाई हेतु उच्चस्तर पर उक्त टीम का सम्मान किया जावेगा।
पुलिस टीम – प्रभारी श्री राजेश गुप्ता, अति0पुलिस अधीक्षक, राजसमन्द
प्रथम टीम
श्री रोशनलाल पटेल वृताधिकारी नाथद्वारा
श्री शैतानसिंह नाथावत, थानाधिकारी केलवाडा,
श्री पेशावर खान थानाधिकारी कुंवारिया,
श्री पवनसिंह हैडकानि,
श्री शिवदर्शनसिंह कानि,
श्री बाबुसिंह कानि,
श्री रामकरण डुडी कानि,
श्री विरेन्द्रसिंह कानि,
श्री मोहित कुमार कानि, द्वितीय टीम
श्री नरपतसिंह, वृताधिकारी कुम्भलगढ,
श्री छगन पुरोहित, पु0नि0
श्री जितेन्द्र आंचलिया थानाधिकारी नाथद्वारा,
श्री सुनील शर्मा थानाधिकारी खमनोर,
श्री घनश्यामसिंह, हैडकानि
श्री भगवानसिंह, हैडकानि
श्री उदयलाल गुर्जर, हैडकानि
श्री मदनसिंह कानि,
श्री पवन कुमार कानि
श्री जोधाराम कानि
श्री हिराराम कानि
श्री प्रवीण कानि

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *