तीन दिवसीय संकाय विकास कार्यशाला का शुभारम्भ


नाथद्वारा। उपली ओडन स्थित श्रीनाथजी इंस्टीट्यूट आॅफ टेक्नोलाॅजी एण्ड इंजीनियरिंग मे राजस्थान तकनिकी विश्वविद्यालय, कोटा के सयुक्त तत्वावधान में तीन दिवसीय संकाय विकास कार्यशाला का शुभारम्भ शुक्रवार को हुआ। तीन दिन चलने वाली कार्यशाला में ”रिसर्च पेपर राईटनिंग युसिंग इनोवेटिव टुल्स“ विषय पर आधारित है जिसमें राजस्थान तकनिकी विश्वविद्यालय के विषय विशेषज्ञ अपने विचारों से प्रतिभागियों को लाभाविंत करेगे। कार्यशाला के पहले दिन डाॅ. हरिश शर्मा ने कहा कि यह कार्यक्रम लेटेक्स और मशीन लर्निंग के व्यावहारिक एक्सपोजर प्रदान करने के लिए डिजाइन किया गया है। कार्यक्रम सैद्धांतिक पहलुओं पर ध्यान केंद्रित करेगा और प्रतिभागियों को हाथ से अनुभव प्रदान करने वाला है ताकि वे अपने संबंधित संस्थानों में संकाय सदस्यों को प्रशिक्षित कर सकेंगे। उन्होने कहा कि इस तरह की कार्यशालाएं औद्योगिक परियोजनाओं पर कार्य करके और वर्तमान में शोध समस्याओं को हल करके उद्योग और संस्थान के सहयोग को बढावा देने में सक्षम बनाता है। लेटेक्स और मशीन लर्निंग के व्यावहारिक एक्सपोजर पर एक संकाय विकास कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है जो कि एक उच्च गुणवत्ता वाले टाइप सेटिंग सिस्टम है जो शोधकर्ता, इंजीनियर और शिक्षाविद तकनीकी और वैज्ञानिक लेखों का उपयोग या तैयार कर सकते है।
कार्यशाला में अन्य विशेषज्ञों डाॅ. मुकेश सारस्वत, अविनाश पाण्डे, हिमान्शु मित्तल, आशिष त्रिपाठी ने शिक्षण में नवाचार, शोध पत्रों के लेखन की तकनीकी विधियों के बारे में शोध वर्ग के छात्रों और व्याख्याताओं को अवगत कराया। इस अवसर पर संस्थान के निदेशक प्रशासनिक जयदीप आमेटा ने सभी अतिथियों का स्वागत – अभिनन्दन किया।

कार्यशाला में मेनेजमेन्ट काॅलेज की प्राचार्या डॉ. दिप्ती भागर्व, फार्मेसी काॅलेज के प्राचार्य डाॅ. राघवेन्द्र सिंह भदोरिया, आईटीआई काॅलेज के प्राचार्य पंकज राठी, रजिस्ट्रार कैलाश कुमावत कार्यक्रम समन्वयक कोमल पालीवाल सहित प्रतिभागी संभागी मोजूद थे। इस अवसर पर छात्रों की डवलपमेन्ट सेल एवं अतिथियों द्वारा वृक्षारोपण किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.