प्रसादी में भाग लेने इंदौर से आये चचेरे भाइयों की बनास में डूबने से मौत

रेत निकाल छोड़े गए खड्डे में डूबी दो जिंदगी

खमनोर. । बुधवार दोपहर गांव कामा के पास बनास नदी के खड्डे में भरे पानी में नहाने उतरे चचेरे भाईयों की डूबने से मौत हो गई। दोनों को अन्य बालक द्वारा सूचना देने पर ग्रामीणों द्वारा तत्काल खमनोर अस्पताल ले गए, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। दोनों चचेरे भाई इंदौर से प्रसादी में भाग लेने के लिए आए थे।
पुलिस के अनुसार कामा हाल इंदौर निवासी यश (12) पुत्र विशाल पुरोहित व जयेश (15) पुत्र जितेंद्र जोशी प्रसादी में भाग लेने कामा गाँव पहुंचे थे। यश व जयेश अपने एक अन्य मित्र के साथ बनास नदी के खड्डे में भरे पानी में नहाने के लिए गए, जहां यश व जयेश नहाने के लिए खड्डे में उतर गए, जबकि तीसरा किशोर बाहर ही बैठ गया। नहाते वक्त दोनों पानी में डूबने लगे, तो बाहर बैठा किशोर सडक़ पर गया, जहां राहगीरों को घटना की जानकारी दे मदद की गुहार लगाई ।
इस पर कामा के सोहनसिंह, हरीश पुरोहित, जोधसिंह, पुष्पेन्द्रसिंह ने पहुंचकर खड्डे में छलांग लगाई और दोनों बच्चों को बाहर निकाल लिया। फिर तत्काल उन्हें खमनोर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचाया, जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। सूचना पर हैड कांस्टेबल अर्जुनसिंह, घनश्यामसिंह ने मौका पर्चा बनाने के बाद प्रकरण दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
प्राप्त जानकारी अनुसार यश के पिता व जयेश की मां भाई बहन है। जयेश व उसकी मां इंदौर से भाई के यहां प्रसादी में भाग लेने आए थे। घटना के बाद से परिजनों में शोक है ।
उल्लेखनीय है कि विगत वर्षों से चल रहे बजरी खनन में माफियाओं द्वारा जगह जगह बड़े बड़े खड्डे यूँ ही छोड़ दिए गए है जिससे गहराई का अंदाजा लगाना मुश्किल हो गया है। लोगों का कहना है कि आज भी खनन नीति का पालन नहीं हो रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *