Posts Tagged “women development”

मोनिका बनी वीमेन ऑफ़ द ईयर

By |

राजसमन्द। समाज में महिलओं को आत्मनिर्भर बनाने एवं उनका आत्मविश्वास बढ़ाने के लिए वी विश फॉर सोसाइटी द्वारा नव संवत्सर की पूर्व संध्या, 5 अप्रैल शनिवार सांय पांच बजे होटल गार्डन व्यू, नाथद्वारा में वीमेन आइकोनिक शो फॉर ऑनर कार्यक्रम का आयोजन हुआ तथा साथ ही समाज को नई दिशा देने वाली आठ प्रतिभाओ को भी सम्मानित किया गया। संस्था अध्यक्ष डॉ. राकेश तैलंग के मार्गदर्शन में यह कार्यक्रम पिछले दो वर्षो से कांकरोली में आयोजित किया जा रहा था तथा इस वर्ष प्रथम बार यह आयोजन श्रीनाथजी की पावन नगरी में आयोजित किया गया। संस्थान की सचिव डॉ. विनिता पालीवाल ने बताया कि समारोह के मुख्य अतिथि शेखर भंडारी उपखंड अधिकारी, रेलमगरा, विशिष्ठ अतिथि रणवीर सिंह उप निदेशक जतन संस्थान ,त्रिलोकी मोहन पुरोहित अकादमिक निदेशक सोफ़िया संस्थान तथा दीपक पालीवाल थे । कार्यक्रम के प्रायोजक धर्मेन्द्र शाह गोल्ड कोइन पैकेजिंग प्राइवेट लिमिटेड कम्पनी, मुम्बई, डॉ. बी. एल. चौधरी निदेशक, एम. एम. एग्रोटेक, राकेश कुमार, श्री कृष्णा हीरो शो रूम की उपस्थिति रही। मोनिका बापना ने संस्थान का वार्षिक प्रतिवेदन प्रस्तुत किया गया।

कार्यक्रम प्रभारी योगिता सोनी ने बताया कि कार्यक्रम तीन चरणों में सम्पादित हुआ प्रथम चरण में महिलायों द्वारा आत्मविश्वास से ओतप्रोत होकर रैंप वाक की गयी, दूसरे चरण में प्रतिभागियों ने अपनी प्रतिभा का गोते की रंगोली, चित्रकारी, हेयर स्टाइलिंग एवं रंगोली निर्माण कला का प्रदर्शन किया व तीसरे चरण में निर्णायको द्वारा सामाजिक एवं व्यावहारिक मुद्दो पर पूछे गए प्रश्नों पर अपने विचार व्यक्त किये। सामाजिक परिवर्तन में अग्रणी प्रतिभाओं में रानीबाला शर्मा, मधु सोनी, क्षुधा अमृत परिवार, स्व.राधाकृष्ण मीणा, पुष्पा सालवी, मनोज हाडा, रंजीता सुथार तथा सुरभि सोनी को शाल, उपरना, प्रशास्तिका तथा श्रीफल से सम्मानित किया गया । कार्यक्रम सह प्रभारी उमा जोशी ने विजेताओ के नाम घोषित किये, मोनिका जैन को वीमेन ऑफ़ दी ईयर 2019 के खिताब से नवाजा गया , विदिशा को प्रथम रनर अप और दरक्षा बानू रनर द्वितीय रनर अप रहें। दिशा पालीवाल को मोस्ट एनर्जेटिक, चंद्रकांता तलेसरा मोस्ट इंस्पायरिंग, पायल तलेसरा मोस्ट बिंदास, ज्योति बिष्ट मोस्ट क्रिएटिव, सुमन माहेश्वरी बेस्ट कॉस्टयूम पुरस्कार से नवाज़ा गया ।

विजताओ की ताजपोशी, सेश ओर स्मृति चिन्ह वितरण वी विश फॉर सोसाइटी के स्वयं सेविकाओ ज्योति श्रीमाली, अर्पणा पालीवाल,रश्मि पालीवाल, प्रियंका श्रीचंदन, शिवानी जोधा, विजिया श्रीमाली, सोनल दीक्षित, विशाला श्रीमाली आदि द्वारा सभी अतिथियों की उपस्थिति में किया गया । पियूष सोनी, डॉ प्रेमलता विकल एवं मधू सोनी द्वारा निर्णायक की भूमिका निभाई गई। कार्यक्रम का संचालन रंजना खत्री, राबिया बानू तथा निधि जैन द्वारा किया गया ।

Read more »

अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस का आयोजन

By |

नाथद्वारा । स्थानींय सेन्ट मीरा महिला शिक्षक प्रशिक्षण महाविद्यालय में अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस धूमधाम से मनाया गया । प्राचार्या डा0 बृजलता चौधरी ने बताया कि महिला दिवस के उपलक्ष्य में महाविद्यालय में निबंन्ध प्रतियोगिता, कुर्सी रैस एवं रस्सा कसी प्रतियोगिता का आयोजन कराया गया, साथ ही प्राचार्या ने अपने उद्बोधन में भारतीय संस्कृति में नारी के सम्मान त्याग, बलिदान समर्पण के बारे में बताते हुए देवी अहिल्या बाई मदर टैरेसा, महादेवी वर्मा, कस्तूरबा गांधी, आदि की जीवनी के बारे में अपने विचार व्यक्त किये।

इस अवसर पर बीएससी महाविद्यालय प्राचार्य श्री शैलेद्र गुर्जर सचिव हरिओम सिंह चौधरी, व्याख्याता ममता कुमावत, राजश्री, दिव्या, चद्रकला श्रीमाली, नूतन , लोकेश गुर्जर, पंकज सोनी उपस्थित थे। संचालन अशोक पालीवाल ने किया।

Read more »

नारी शक्ति दिवस का आयोजन

By |

नाथद्वारा। वल्लभपुरा स्थित पुष्टि विद्यालय में नारी शक्ति दिवस मनाया गया। जिसके तहत सर्वप्रथम अध्यक्षा बबली देवी सनाढ्य, मुख्य अतिथि ललिता देवी व जया देवी ने दीप प्रज्जवलित किया। इस कार्यक्रम में पधारी सभी माताओं व विद्यार्थियों को नारी शक्ति पर आधारित, अध्यापिकाओं व अभिभावकों से सम्बन्धित विडियो दिखाई गई। साथ ही ललिता देवी व जया देवी के द्वारा नारी शक्ति के महत्व पर उद्बोधन दिया गया। मीना,
अर्पणा , सुशाीला आदि के द्वारा गीत की प्रस्तुति दी गई। प्रबंधक कविता पारिख ने बताया कि ’’ नारी शब्द अपने आप में ही सोच,मनोबल, ज्ञान, बलिदान, ममता और सहयोग का प्रतीक है।’’ साथ उन्होनें बताया की पुष्टि विद्यालय पूर्ण रूप से महिलाओं द्वारा ही संचालित हैं।

इस अवसर पर विद्यालय में आयी मातृ शक्ति के लिये चेयर रेस का आयोजन किया गया जिसमें प्राजिता , मीना , पायल विजेता रहे। सभी माताओं ने कार्यक्रम का भरपूर आनंद लिया साथ ही प्रतिक्रया व्यक्त की – ’’हमने हमारे पलों को पुनः जिया है’’।
कार्यक्रम का संचालन दीप्ति चौधरी के द्वारा किया गया। सभी स्टाफ का सहयोग सराहनीय रहा।

Read more »

अंधेरों की बेडियों तोड़कर आत्मविश्वास से ओतप्रोत महिलाओं ने भरी हुँकार

By |

राजसमन्द । नारी सक्शितिकरण संकल्प जागरूकता हेतू प्रतिबद्ध वी विश फॉर संस्थान के स्थापना दिवस पर नाईट राइडिंग ब्रेकिग़ रुमर का आयोजन कांकरोली बस स्टैंड पर किया गया| इससे पूर्व प्रभु श्री द्वारिकाधीश के श्री चरणों से आशीर्वाद प्राप्त कर संस्थान सदस्यों द्वारा विश्व प्रसिद्ध राजसमन्द झील में दीपदान किया | तत्पश्यात संस्थान सचिव डॉ विनिता पालीवाल ने टॉक शो में महिलाओ को आत्मनिर्भर बनाने वाली स्कूटर रेली के आयोजन के उद्देश्यों के बारे में बताया | टॉक शो के दौरान वर्तमान शताब्दी की समस्याओ तथा कुरीतियों यथा जेंडर असमानता, कन्या भ्रूण हत्या, बलात्कार, दहेज़ प्रथा, ईव टीसिंग पर बेबाकी से चर्चा की | कार्यक्रम में उपस्थित मातेश्वरी संस्थान की अध्यक्ष संगीता कोठारी ने बेटियों को जिम्मेदार तथा समाज में हो रही कुरीतियों से बचाने हेतू उचित संस्कार, परवरिश तथा प्रशिक्षण को आवश्यक बताया |

महिला मंच की अध्यक्ष पुष्पा सिंघवी ने बताया कि ग्रामीण तथा शहरी माहिलाओ को अपने अधिकारों के प्रति जागरूक होकर स्वयं के लिय आगे बढना होगा |सामाजिक कार्यकर्ता दीपक चोरडिया ने महिला सशक्तिकरण हेतू महिलाओ के साथ साथ पुरुषों को मानसिकता बदलने की अपील की| इस अवसर पर राबिया बानू, रश्मि पालीवाल, मोनिका बापना, ज्योति त्रिवेदी, कमल काबरा, प्रियंका श्रीचंदन ने विचार व्यक्त किए| नाईट राइडिंग स्कूटर रेली लविश होंडा द्वारा प्रायोजित की गई जिसमे उन्होंने राइडिंग में भाग लेने वाली समस्त प्रतिभागियों को हेलमेट वितरित किये| कार्यक्रम का संचालन उमा जोशी द्वारा किया गया| इस कार्यक्रम में योगिता सोनी, अर्पणा पालीवाल, विजिया श्रीमाली, सोनल दीक्षित, विशाला श्रीमाली, प्रज्ञा, प्रियंका पुंगलिया आदि उपस्थित थे|

Read more »

व्यक्तित्व विकास सेमिनार के साथ स्थापना दिवस का आयोजन

By |


राजसमन्द। वी विश फॉर संस्थान के प्रथम स्थापना दिवस पर व्यक्तित्व विकास के लिए सेमिनार का आयोजन किया गया । संस्था अध्यक्ष डॉ. राकेश तैलंग ने बताया सामाजिक विकास के लिए प्रयासरत वी विश फॉर संस्थान ने महर्षि महिला प्रशिक्षण महाविद्यालय में छात्राध्यापिकाओं के लिए व्यक्तित्व विकास सेमिनार स्वयं को जाने का पोस्टर विमोचन के साथ सेमिनार का आगाज किया | संस्थान सचिव डॉ विनिता पालीवाल ने व्यक्तित्व विकास के विभिन्न घटकों जैविक , सामाजिक, सांस्कृतिक,व्यवहारिकता के बारे में विस्तार से बताया।योगिता सोनी ने व्यक्तित्व विकास के विभिन्न पहलुओं यथा आत्मविश्वास, समय प्रबन्धन, तनाव प्रबन्धन, निर्णय लेने की क्षमता के बारे में अवगत कराया। उमा जोशी ने नेतृत्व क्षमता तथा सृजनशीलता का जीवन में महत्व बताया।

इस अवसर पर महाविद्यालय के शेक्षिक निदेशक त्रिलोकी मोहन पुरोहित, प्राचार्या मुकेश शर्मा, जावेद हामीद, ,कमल सांचीहर, कमल काबरा, प्रियंका पुगलिया तथा प्रियंका श्रीचंदन आदि उपस्थित थे । इस अवसर पर 80 छात्राध्यापिकायें उपस्थित थी। कार्यक्रम का संचालन मोनिका बापना तथा ज्योत्स्ना पोखरना ने किया |

Read more »

शैक्षणिक भ्रमण कर लौटी बीएड छात्राध्यापिकाएं

By |

नाथद्वारा । स्थानीय सेन्ट मीरा शिक्षण प्रशिक्षण की बीएड एवं चार वर्षीय कोर्स बीएससी- बीएड की 100 छात्राध्यापिकाओं ने किया कुल्लू मनाली, शिमला का शैक्षणिक भ्रमण। संस्था निदेशिका डा0 बृजलता चौधरी ने बताया कि चार दिवसीय शैक्षणिक भ्रमण के दौरान छात्राध्यापिकाओं ने ज्वाला देवी, नगरकोट, एवं चिन्तापूर्णी माता जी के दर्शनों का लाभ लिया एवं शिमला एवं मनाली की भौगोलिक स्थिति एवं मौसम, एवं वहां उगाई जाने वाली फसलों में प्रमुख फसल सेब की फसल का रखरखाव एवं उन्नत किस्म के बारे में जानकारी हासिल की । इस अवसर पर महाविद्यालय शारीरिक शिक्षिका यशवी सनाढ्य, व्याख्याता अशोक पालीवाल, राजश्री,दिव्या सनाढ्य मौजूद थी।

क्या मस्ती क्या धूम युवा सप्ताह के तहत् हुई विभिन्न प्रतियोगिताएं

नाथद्वारा । स्थानींय सेन्ट मीरा उच्च प्राथमिक विद्यालय में क्या मस्ती क्या धूम के तहत विभिन्न प्रतियोगिताओ की प्रतियोगिताएं आयोजित हुई, प्राचार्य बृजलता चैधरी ने बताया कि प्रथम दिवस चैयर रैस कबडडी, बौरा रैस स्पून रैस, मेहन्दी, प्रतियोगिताएं हुई जिसमें जूनियर वर्ग चेयर रैस में प्रथम गोपाल, कुशान वैष्णव, एवं कबड्डी में महिपाल सिंह प्रथम एवं द्वितीय पर कमलेन्द्र रहे। एवं मेहन्दी प्रतियोगिता में प्रथम स्थान पर परिशिखा एवं द्वितीय कोमल नागदा तृतीय स्थान पर खुशबू पालीवाल रही। इस अवसर पर महाविद्यालय स्टाफ सर्वेश चौधरी, ज्योति, तारा, किरण, पूनम, उपस्थित थी । कार्यक्रम का संचालन शारीरिक शिक्षिका किरण ने किया ।

Read more »

मण्डावर के मांगू सिंह को मिला “मुख्यमंत्री स्वच्छता सम्मान”

By |

करवा चौथ पर शौचालय गिफ्ट करने पर मिला सम्मान

राजसमंद जिले के भीम उपखंड क्षेत्र अंतर्गत ग्राम पंचायत मण्डावर में सरपंच प्यारी रावत के प्रेरणा पर करवा चौथ के उपलक्ष पर शौचालय बना कर अपनी पत्नी को भेंट करने हेतु मंडावर (कनियातों की गुआर) निवासी मांगू सिंह रावत को राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के द्वारा स्वच्छ भारत मिशन में नवाचार करके क्षेत्र में प्रेरणास्त्रोत बनने पर “मुख्यमंत्री स्वच्छता सम्मान” प्रदान किया गया । मांगू सिंह को मुख्य-मंत्री स्वच्छता सम्मान मिलने पर सरपंच प्यारी रावत, ग्राम सेवक भगवान सहाय मीणा, पंचायत सहायक राजेंद्र सिंह, मेघ सिंह, चंदन सिंह, प्रेरक प्रेम सिंह, सुमित्रा चौहान, मगरा विकास मंच अध्यक्ष जसवंत सिंह, ग्राम विकास समिति अध्यक्ष चुन्नासिंह चौहान, बीजेपी अध्यक्ष नेतसिंह कनियात, वार्डपंच पानी देवी कार्यकर्ता सायर देवी ने हर्ष व्यक्त किया है।

करवा चौथ पर शौचालय किया था गिफ्ट

स्वच्छ भारत मिशन के तहत सरपंच प्यारी रावत के प्रेरणा पर मांगू सिंह ने अपनी पत्नी को करवा चौथ पर शौचालय बना कर गिफ्ट किया था । इस बात को लेकर गांव, पूरे जिले एवं देशभर में चर्चा का विषय बना रहा ।इस तरह करवा चौथ पर शौचालय गिफ्ट करने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी ट्विटर पर ट्वीट किया और प्रेरणास्त्रोत मांगू सिंह व सरपंच प्यारी रावत को बधाइयां प्रेषित की।

Read more »

फूल माली समाज का तृतीय सामूहिक विवाह सम्मेलन सम्पन्न

By |




नाथद्वारा। श्रीनाथजी की नगरी नाथद्वारा में फूल माली समाज के सानिध्य एवं फूलमाली सेवा समिति नाथद्वारा के तत्वाधान में 4 दिसम्बर 2017 को फूल माली समाज का तृतीय सामूहिक विवाह सम्मेलन सोमवार को यहां फोज मोहल्ला स्थित मॉडल स्कूल परिसर में आयोजित किया गया इसमें 11 जोड़े परिणय सूत्र में बंधे । सेवा समिति के अध्यक्ष राजेंद्र देवडा ने बताया की सामूहिक विवाह समारोह के तहत रविवार को महिला संगीत एवं सोमवार की सुबह सगाई की रस्म पूरी की गईस इसके बाद मायरा का कार्यक्रम परंपरानुसार कराया गया ।
दोपहर में दूल्हा दुल्हन की बंदोली निकाली गई शोभायात्रा में दूल्हे घोड़ी पर दुल्हने बगियों पर सवार थी। सबसे आगे बैंड मांगलिक धूनों के साथ ही फिल्मी गीतों पर समाज के युवक-युवतीया पूरे रास्ते नाचते गाते हुए चल रहे थे । शोभायात्रा मॉडल स्कूल से शुरु होकर अहिल्या कुंड, लाल बाजार,श्रीनाथजी मंदिर ,गांधी रोड, नानीजी की बावड़ी, बस स्टैंड, नया रोड होते हुए मॉडल स्कूल में समाप्त हुई सामूहिक बारात का समाज के लोगों ने पुष्प वर्षा कर स्वागत कियास समारोह स्थल पहुंचने पर तोरण की रस्म अदा की गई स तोरण की रस्म के बाद आयोजित कार्यक्रम में वर-वधू ने जैसे ही एक दूजे को वरमाला पहनाई तो समूचा परिसर तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा।विवाह स्थल पर पंडितों ने विधि-विधान से विवाह रस्म संपन्न करवाई। कन्यादान की रस्म परंपरानुसार समाज बंधुओं ने कन्यादान किया। पदाधिकारियों ने आशीर्वाद देकर जोड़ों को विदाई दी।



सामूहिक विवाह सेवा समिति के अध्यक्ष राजेंद्र देवड़ा,फूल माली समाज के अध्यक्ष घनश्याम जी देवड़ा, फूलमाली रॉयल ग्रुप के अध्यक्ष पवन कुमार भाटी जी, उबागणेश जी फुल माली अल्प बचत समिति के अध्यक्ष शेषनारायण वागड़ी, जुगल किशोर दईया,गोवर्धन सैनी, लाल बाग युवा मंडल अध्यक्ष धर्मेंद्र वणेटिया, रुद्राक्ष ग्रुप के अध्यक्ष देवेंद्र वागड़ी,फूलमाली मालाकर अ .ब .समिति के अध्यक्ष भरत कुमार चैहान , किशनलाल देवड़ा, फुलमाली नवयुक मंडल अध्यक्ष ओम प्रकाश, नवयुग मंडल के बालमुकुंद तुरखिया, हेमन्त माली,श्यामसुंदर वागड़ी,ललित जी,गोवर्धनजी,शंकर बागवान, महेश, जुगल किशोर भभीवाल,किशन भभीवाल आशीष सैनी, शंभू गोयल, जगदीश, जुगल किशोर भभीवाल,मांगीलाल गोयल, रजनी कांत, प्रेम जी,तपन तुरखिया, तन्मय, प्रकाश चंद देवड़ा, रिंकू गोयल,अजय देवड़ा, दुर्गेश देवड़ा,संजय गोयल,विकास गोयल,नरेंद्र गहलोत,गौरव वागड़ी संभाग भर के समाज बंधुओं ने कार्यक्रम को सफल बनाया।अंत में श्री गोवर्धन सैनी ने समाज बंधुओं का आभार प्रकट किया।



Read more »

महिलाओं ने रैली निकाल समारोहपूर्वक किया सी एल एफ का शुभारंभ

By |





खमनोर। राजस्थान ग्रामीण आजीविका विकास परिषद की ओर से खमनोर में क्लस्टर लेवल फेडरेशन का शुभारंभ सोमवार को हुआ।

समारोह में मुख्य अतिथि विकास अधिकारी वीरेंद्र कुमार जैन, अध्यक्षता जिला परियोजना प्रबंधक गौरव त्रिवेदी ने की। विशिष्ट अतिथी पूर्व ब्लॉक प्रबंधक भोमराज जीनगर थे। पूर्व ब्लॉक परियोजना प्रबंधक ने स्वागत उद्बोधन देते हुए राजीविका की विस्तृत जानकारी दी। जिसमें खमनोर कलस्टर में 136 से ज्यादा समूह और उनके ऊपर 13 ग्राम संगठन बन चूके हैं।

मुख्य अतिथि ने राजीविका द्वारा महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने की सराहना करते हुए कहा कि यह बीपीएल महिलाओं की आर्थिक उन्नयन की एक सीढ़ी है। यह योजना महाराणा प्रताप महिला क्लस्टर संगठन द्वारा क्षेत्र की महिलाओं के उत्थान में निश्चित ही सहायक सिद्ध होगी।


कार्यक्रम में सोडावास की समूह सखी टमा कुंवर ने गीत प्रस्तुत किया। संचालन बहादुर सिंह ने किया। ब्लॉक प्रबंधक लिज़ा जोसेफ ने आभार जताया। इस दौरान ब्लॉक अन्तर्गत ग्राम पंचायतों की सैंकड़ों महिलाएं मौजूद थी। महिलाओं ने गांव में बस स्टैंड होकर समारोह स्थल राजकीय महाराणा प्रताप आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय तक नाचते गाते रैली निकाली। महिलाओं का उत्साह देखते ही बन रहा था। क्लस्टर लेवल फेडरेशन के शुभारंभ पर संदीप झा,पूरन सिंह, शांतिलाल,रामलाल गुर्जर, लक्ष्मण गुर्जर सहित अन्य मौजूद रहे।

Read more »

संस्कारों से परिपूर्ण शिक्षा-दीक्षा और हुनर से सँवारें, खा़स पहचान बनाएं – श्रीमती मृदुला सिन्हा

By |

गोवा की राज्यपाल ने राजसमन्द में बालिकाओं और महिलाओं से किया आह्वान

उच्च शिक्षा मंत्री श्रीमती माहेश्वरी तथा महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती भदेल ने किया संबोधित

राजसमन्द,  22 मई/ गोवा की राज्यपाल श्रीमती मृदुला सिन्हा ने घर-परिवार की शिक्षा-दीक्षा, हुनर और संस्कारों को व्यक्तित्व विकास का मूलाधार बताया और कहा है कि समय के अनुरूप बदलाव और परिस्थितियों से सामन्जस्य बिठाकर चलना ही जीवन विकास की कला है।

उन्होंने बालिकाओं और महिलाओं से कहा कि वे अपने बहुआयामी उत्थान और सामाजिक विकास के लिए सभी उपयोगी हुनरों में दक्षता प्राप्त करें और अपनी खास पहचान बनाते हुए समाज की सेवा में आगे आएं।

राज्यपाल श्रीमती मृदुला सिन्हा सोमवार को राजसमन्द के भिक्षु निलयम में आयोजित पण्डित दीनदयाल उपाध्याय बालिका उत्थान शिविर के समापन समारोह में मुख्य अतिथि पद से संबोधित कर रही थी।

राज्यपाल ने भारत माता, पं. दीनदयाल उपाध्याय एवं श्यामप्रसाद मुखर्जी की तस्वीर के सम्मुख दीप प्रज्वलन कर समारोह की शुरूआत की।

इस अवसर पर उच्च शिक्षा मंत्री श्रीमती किरण माहेश्वरी, महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती अनिता भदेल, जिला प्रमुख श्री प्रवेश कुमार सालवी, नगर परिषद के सभापति श्री सुरेश पालीवाल,  शिविर संयोजिका श्रीमती संगीता माहेश्वरी सहित जन प्रतिनिधिगण, अधिकारीगण, शिविरार्थी बालिकाएं एवं महिलाएं तथा उनके परिजन, विभिन्न संस्थाओं के प्रतिनिधि और गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।आठ दिवसीय यह शिविर राजसमन्द नगर परिषद, भारत विकास परिषद तथा महिला संरक्षण समिति, कोटा की ओर से आयोजित किया गया। इसमें राजसमन्द एवं आस-पास के क्षेत्रों की 1200 से अधिक बालिकाओं व महिलाओं ने हस्तकलाओं और आधुनिक विधाओं का व्यवहारिक प्रशिक्षण पाकर दक्षता हासिल की।

राज्यपाल श्रीमती सिन्हा सहित तमाम अतिथियों का प्रभु श्री द्वारिकाधीश की छवि, उपरणा, पुष्पगुच्छ एवं श्रीफल से स्वागत किया गया।

आयोजक संस्थाओं का सम्मान

राज्यपाल श्रीमती सिन्हा ने शिविर आयोजन तथा इसमें समर्पित भागीदारी के लिए नगर परिषद सभापति श्री सुरेश पालीवाल एवं आयुक्त श्री बृजेश राय, महिला संरक्षण समिति की अध्यक्ष एवं शिविर संयोजिका श्रीमती संगीता माहेश्वरी एवं श्रीमती श्वेता शर्मा, भारत विकास परिषद के श्री जयप्रकाश मंत्री एवं श्री ओमप्रकाश मंत्री सहित उल्लेखनीय सहयोगकर्ताओं को प्रभु श्री द्वारिकाधीश की छवि, श्रीफल, शॉल, उपरणा एवं प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया। राज्यपाल ने स्वच्छता बेग और बालिकाओं को दिए जाने वाले बैक्स प्रदान किए। राज्यपाल ने मंच संचालक श्री दिनेश श्रीमाली को उपरणा पहनाकर अभिनंदन किया।

राज्यपाल को सुन शिविरार्थी गद्गद् हो उठे

राज्यपाल ने बालिकाआें को पोतियां कहकर संबोधित किया और सीधे संवाद कायम करते हुए उनके घर-परिवार और संस्कारों आदि के बारे में बातचीत की, इससे बालिकाएं गद्गद् हो उठी। श्रीमती सिन्हा के उद्बोधन के दौरान कई बार करतल ध्वनि होती रही।

उन्होंने कहा कि जो बच्चे दादा-दादी के साथ रहते हैं उनमें  तीन पीढ़ियों का सामन्जस्य और सहज-स्वाभाविक जीवन व्यवहार की दीक्षा मिलती रहती है, ऎसे बच्चों का विकास अधिक होता है। उन्होंने दादा-दादी, नाना-नानी और बुजुर्गों की कथा परंपरा को भी नई पीढ़ी के लिए ज्ञानवद्र्धक और व्यवहारिक जीवनोपयोगी बताया और कहा कि इस पर विशेष ध्यान दिया जाना चाहिए।

मनीषी चिन्तक एवं सुप्रसिद्ध कथाकार श्रीमती सिन्हा ने बच्चों को पुरातन आख्यानों तथा कथा-कहानी एवं कविता के माध्यम से समझाईश की और बालिकाओं का दिल जीत लिया।

हुनर देता है उल्लास और आत्मनिर्भरता

बालिका उत्थान शिविर की उपलब्धियों पर प्रसन्नता जाहिर करते हुए  उन्होंने कहा कि हाथ में जब हुनर आता है तब इसका उल्लास प्रकट होता है और आमदनी बढ़ जाती है। उन्होंने कहा कि बेटियों को विशेष सुरक्षा, शिक्षा और विकास के अवसर मुहैया कराए जाने चाहिएं क्योंकि बेटियां विशेष काम करती है। आज बेटियां जल, थल और नभ से लेकर सभी दिशाओं में अपनी धाक जमा रही हैं। बेटियों से उन्होंने पढ़-लिख और हुनर सीख कर समाज में पहचान बनाने का आह्वान किया और कहा कि अपने भीतर गौरव का भाव लाकर खुद को गौरवान्वित महसूस करने लायक काम करने में जुटे रहना चाहिए।

यह लौ हमेशा जलती रहे

उन्होंने कहा कि समाज में बेटियों को सदियों से सम्मान देने की परंपरा रही है। समाज और सरकार की ओर से बेटियों के उत्थान के लिए खूब प्रयास हो रहे हैं। बालिका उत्थान शिविर की तारीफ करने हुए उन्होंने कहा कि आठ दिन तक 1200 बेटियों का साथ-साथ रहना और परस्पर सीखना कोई कम बात नहीं है। बेटियों के उत्थान की लौ हमेशा सब जगह जलती रहनी चाहिए, अंधियारा छटेगा तभी उजाला आएगा। इस दिशा में जो प्रयास हो रहे हैं वे सराहनीय हैं। बेटियां कई पीढ़ियों का निर्माण करती हैं और संस्कारित बेटी पीढ़ियों को संभाल लेती है।

आय अर्जन गतिविघियों से जोड़ेंगे

समारोह को संबोधित करते हुए उच्च शिक्षा मंत्री श्रीमती किरण माहेश्वरी ने राज्यपाल श्रीमती मृदुला सिन्हा के व्यक्तित्व एवं कर्तृत्व का परिचय देते हुए कहा कि ज्ञान, साहित्य और अनुभवों से भरा उनका समग्र जीवन प्रेरणा का स्रोत है।

उन्होंने बताया कि शिविर के माध्यम से विभिन्न विधाओं में रुचि रखने वाली हुनरमन्द बालिकाओं और महिलाओं को आय अर्जन गतिविधियों और योजनाओं से जोड़कर पूर्ण रूप से आत्मनिर्भर बनाया जाएगा।

सरकारी योजनाओं का लाभ लें

समारोह में बालिकाओं को संबोधित करते हुए महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती अनिता भदेल ने राजसमन्द में बालिका उत्थान शिविर की सराहना की और बालिकाओं से कहा कि वे अवसराें का पूरा-पूरा लाभ लेकर अपने व्यक्तित्व को निखारें और जीवन में आगे बढ़ें। उन्होंने हुनरमंद बालिकाओं द्वारा सृजित उत्पादों को बाजार दिलाने के उद्देश्य से राजसमन्द में अमृता हाट मेले का आयोजन का आश्वासन दिया और कहा कि इसका लाभ पाएं।

उन्होंने राज्य सरकार द्वारा बालिकाओं और महिलाओं के विकास और आत्मनिर्भरता प्रदान करने वाली योजनाओं और कार्यक्रमों की जानकारी दी और बालिकाओं से कहा कि वे निःशुल्क हुनर विकास कोर्सेज के लिए ऑनलाईन आवेदन कर इनका फायदा उठाएं।

अनुभव सुनाए

शिवरार्थी बालिकाओं मेहनाज (राजसमंद) एवं खुशी आचार्य(भीलवाड़ा) ने अपने अनुभव सुनाए और शिविर को सभी बालिकाओं के लिए उपलब्धिमूलक और भविष्य संवारने वाला बताया। समारोह में बालिकाओं के दल ने आत्मरक्षा के व्यवहारिक प्रयोगों का प्रदर्शन किया।

जादुई करिश्मों पर झूम उठे

समारोह में जादूगर श्री आरके सोनी (जयपुर) द्वारा दिखाए गए जादुई करिश्मों से मंचासीन अतिथियों के साथ ही सभी दर्शक मंत्रमुग्ध हो उठे। शिविर गतिविधियों पर केन्दि्रत लघु फिल्म का प्रदर्शन किया गया।

समारोह का संचालन शिक्षाविद् एवं साहित्यकार श्री दिनेश श्रीमाली तथा आभार प्रदर्शन भारत विकास परिषद के सचिव श्री ओमप्रकाश मंत्री ने किया।

आरंभ में अतिथियों का स्वागत समाजसेवी श्री भंवरलाल शर्मा, महेन्द्र टेलर, उपसभापति श्री अर्जुन मेवाड़ा, कैलाश निष्कलंक, नीलोफर बानू, विजय बहादुर, पुष्पा पालीवाल, हिम्मत मेहता, लता, गिरिराज कुमावत सहित  पार्षदों एवं आयोजक संस्थाओं के प्रतिनिधियों ने किया।

गोवा की राज्यपाल श्रीमती मृदुला सिन्हा ने बालिकाओं के हस्तकौशल की सराहना की

राजसमन्द, 22 मई/गोवा की राज्यपाल श्रीमती मृदुला सिन्हा ने राजसमन्द के भिक्षु निलयम में पण्डित दीनदयाल उपाध्याय बालिका उत्थान शिविर की संभागी बालिकाओं व महिलाओं द्वारा बनाई गई हस्तशिल्प सामग्री का अवलोकन किया और खूब सराहना की।

राज्यपाल ने फीता खोल कर हस्तकला प्रदर्शनी का उद्घाटन किया। उच्च शिक्षा मंत्री श्रीमती किरण माहेश्वरी, महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती अनिता भदेल, जिलाप्रमुख श्री प्रवेशकुमार सालवी, नगर परिषद के सभापति श्री सुरेश पालीवाल सहित जन प्रतिनिधिगण, अधिकारीगण और गणमान्य नागरिक तथा आयोजक संस्थाओं के प्रतिनिधि व पदाधिकारीगण मौजूद थे।

बालिकाओं के आग्रह पर राज्यपाल श्रीमती मृदुला सिन्हा ने मॉडल्स के साथ फोटो भी खिंचवाया और आशीर्वाद दिया।

Read more »