Posts Tagged “rajasthan”

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने देव डूंगरी में स्वयंसेवी संस्थाओं व ग्रामीणों से किया संवाद

By |


राजसमन्द। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शनिवार को दोपहर राजसमन्द जिले की भीम पंचायत समिति अन्तर्गत देव डूंगरी गांव का दौरा किया। राजस्थान विधानसभाध्यक्ष डॉ. सीपी जोशी भी उनके साथ थे।
मुख्यमंत्री ने यहाँ उस झोपड़ी का अवलोकन किया जहां से मजदूर किसान शक्ति संगठन की प्रतिनिधि प्रमुख सामाजिक चिन्तक अरुणा राय ने सूचना का अधिकार एवं रोजगार गारंटी के बारे में सूत्रपात किया था। मुख्यमंत्री को अरुणा राय, निखिल डे एवं शंकरसिंह ने इस स्थल का अवलोकन कराया और रचनात्मक कार्यों की पृष्ठभूमि के बारे मेंं जानकारी दी और इसमें रह रहे परिवार से परिचय कराया।
इसके बाद मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों तथा मजदूर किसान शक्ति संगठन एवं अन्य स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों के साथ संवाद किया। ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री गहलोत को वनाधिकार अधिनियम सहित तमाम मुद्दों पर अपने विचार और अनुभव बताए और ग्रामीण विकास तथा प्रदेश के उत्थान में उनके योगदान की सराहना की।


मुख्यमंत्री के समक्ष स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों और ग्रामीणों ने सिलिकोसिस से प्रभावित श्रमिकों के कल्याण, श्रम विभाग की सहायता योजनाओं में पारर्दशिता लाते हुए पात्र जनों को अधिक से अधिक लाभान्वित करने, श्रम विभाग द्वारा निर्धारित छात्रवृत्ति समय पर मुहैया कराने, श्रम विभाग की योजनाओं की सोशल ऑडिट कराने, शामलाती भूमि पर पॉलिसी बनाने, आदिवासी क्षेत्रों में गैस सिलेंडर की उपलब्धता वाले ग्रामीणों को केरोसिन का वैकल्पिक बंदोबस्त करने की सुविधा देने, घुमंतु समुदाय की सभी जातियों को बसाने के लिए कारगर योजना बनाने और उनकी शिक्षा और स्वास्थ्य की बेहतर सुविधाएं देने, पशु क्रय-विक्रय के परंपरागत धंधे से जुड़े बंजारा परिवारों को पशु परिवहन की निर्बाध सुविधा मुहैया कराने, घुमंतु जातियों को भवन निर्माण के लिए निःशुल्क पट्टा देने व उनके लिए श्मशान की सुविधा उपलब्ध कराने, कलंदर समुदाय को घुमंतू जाति में शामिल करने आदि का आग्रह किया गया।

इस दौरान ग्रामीणों ने बताया कि पोस्टमैन द्वारा पेंशन समय पर नहीं पहुंचाई जा रही है। कूकर खेड़ा में बुजुर्ग दंपत्ति के वहां पेंशन नहीं पहुंचने व पोस्टमैन की गड़बड़ी की जानकारी दिए जाने पर मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि इस मामले में पोस्टमैन के खिलाफ पुलिस में प्राथमिकी दर्ज कराई जानी चाहिए। इस प्रकार की गड़बड़ियां जहां भी दिखें, उनमें पुलिस में प्राथमिकी दर्ज कराने के उन्होंने निर्देश दिए।
उन्होंने सिलिकोसिस से संबंधित समस्या के बारे में कहा कि इसकी रोकथाम की दिशा में प्रभावी प्रयास किए जाने की आवश्यकता है ताकि यह बीमारी हो ही नहीं।
मुख्यमंत्री के आमजन एवं स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों के साथ हुई चर्चा कार्यक्रम के दौरान राजस्थान विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीपी जोशी, पूर्व मंत्री रामलाल जाट, राजसमन्द कांग्रेस जिलाध्यक्ष देवकीनंदन गुर्जर, पूर्व मंत्री लक्ष्मण सिंह रावत, भीम के विधायक सुदर्शन सिंह, पूर्व जिला प्रमुख नारायण सिंह भाटी, पूर्व उप जिला प्रमुख मदन गुर्जर, समाजसेवी अरुणा राय, निखिल डे, शंकर सिंह, संभागीय आयुक्त भवानी सिंह देथा, उदयपुर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक प्रफुल्ल कुमार दक, जिला कलक्टर अरविंद कुमार पोसवाल, जिला पुलिस अधीक्षक भुवनभूषण यादव, अतिरिक्त जिला कलक्टर राकेश कुमार, जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी निमिषा गुप्ता, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेश गुप्ता, भीम की उपखंड अधिकारी सुमन सोनल, जिला अधिकारीगण, जनप्रतिनिधिगण, समाजसेवी और बड़ी संख्या में ग्रामीण स्त्री-पुरुष उपस्थित थे।
मुख्यमंत्री का कार्यक्रम स्थल पहुंचने पर इन जन प्रतिनिधियों, ग्रामीणों और संस्थाओं के प्रतिनिधियों ने स्वागत किया।
इसके बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने देव डूंगरी में ग्रामीण महिलाओं के समूहों और महानरेगा की महिला श्रमिकों के बीच पहुंच कर चर्चा की और क्षेत्र में समसामयिक हालातों के बारे में जानकारी ली। मुख्यमंत्री का स्वयंसेवी संस्थाओं, क्षेत्रीय जन प्रतिनिधियों एवं ग्रामीणों ने स्वागत किया।

Read more »

आशापुरा क्लब खटामला प्रताप कप विजेता – ब्रांड हब कांकरोली रहा उपविजेता

By |





खमनोर के महाराणा प्रताप स्टेडियम में जय हल्दीघाटी नवयुवक मंडल व आयोजन समिति के तत्वावधान में आयोजित प्रताप कप सीजन द्वितीय छह दिवसीय क्रिकेट प्रतियोगिता का समापन रविवार को हुआ ၊ फाइनल मुकाबले में आशापुरा क्लब खटामला ने ब्रांड हब कांकरोली को हराया ၊ अंतिम मैच में पहले खेलते हुए ब्रांड हब कांकरोली ने निर्धारित 25 ओवर में दो विकेट शेष रहते 168 रन बनाये ၊जवाबी पारी में आशापुरा क्लब ने एक विकेट व एक गेंद शेष रहते रोमांचक जीत हासिल की ၊ विजेता टीम को 31000 रूपये  व ट्राफी तथा उप विजेता को 15000 व ट्रॉफी प्रदान की गई ၊ प्रतियोगिता में मोलेला के यशवंत मैन ऑफ द सीरीज रहे ၊ विजेता टीम के राहुल  मैन ऑफ द मैच रहे၊ विजेता टीम द्वारा ईनामी राशि में से 11000 रूपये गरीब बच्चों की शिक्षा हेतु आयोजन कमेटी को देकर अनुकरणीय मानवीयता का श्रेष्ठ प्रदर्शन किया၊विजेताओं को अतिथियों द्वारा सम्मानित किया गया ၊

समापन समारोह की अध्यक्षता आयोजन समिति के श्री दया लाल पालीवाल ने की၊ मुख्य अतिथि श्रीमती संगीता कुंवर चौहान,श्रीभूपेंद्र श्रीमाली थे ၊ विशिष्ट अतिथियों में संत श्री ज्वालानाथ, भाजपा प्रदेश प्रतिनिधि श्री केशर सिंह चुण्डावत,पंचायत समिति उप प्रधान श्री दलजीत सिंह चुण्डावत, भाजपा नाथद्वारा नगर अध्यक्ष श्री प्रदीप काबरा,  विधायक प्रतिनिधि श्री नीरज शर्मा,सेमा सरपंच सुश्री मनू गायरी,ग्रामीण मंडल अध्यक्ष श्री हरदयाल सिंह चौहान, खमनोर पूर्व उप सरपंच भैरु लाल वीरवाल, मंडल अध्यक्ष श्री नवनीत पालीवाल ,भाजयुमो खमनोर मंडल अध्यक्ष श्री संदीप श्रीमाली,ड़ॉ श्री कुलदीप कौशिक,श्री कैलाश श्रीमाली इत्यादि  मौजूद थे၊

अतिथियों का मेवाड़ी परंपरा  अनुसार पगड़ी,उपरणा व तलवार भेंट कर स्वागत किया गया ၊ आयोजन समिति व नवयुवक मंडल के श्री निर्मल बडारिया,श्री मुकेश सिंह,श्री कपिल पालीवाल,श्री लोकेश दवे, श्री दीपक दवे,श्री नवीन मोदी, श्री पंकज पालीवाल,श्री इशाक ताजक,श्री जुगनू ,श्री हरीश पंवार,श्री छोटूसिंह चौहान,श्री मनोज पालीवाल, श्री आजाद खान,श्री दीपक शर्मा,श्री योगेश पालीवाल,श्री नीलेश पालीवाल,श्री नरेश वीरवाल,आदि युवा साथियों ने सभी का स्वागत सत्कार  किया ၊

अंत में आभार महाराणा प्रताप व्यापार मंडल अध्यक्ष श्री रामचंद्र पालीवाल ने ज्ञापित किया၊ फाइनल मुकाबले को देखने को काफी संख्या में दर्शक मौजूद रहे ၊संचालन श्री संदीप मांडोत ने किया ၊


Read more »

मण्डावर के मांगू सिंह को मिला “मुख्यमंत्री स्वच्छता सम्मान”

By |

करवा चौथ पर शौचालय गिफ्ट करने पर मिला सम्मान

राजसमंद जिले के भीम उपखंड क्षेत्र अंतर्गत ग्राम पंचायत मण्डावर में सरपंच प्यारी रावत के प्रेरणा पर करवा चौथ के उपलक्ष पर शौचालय बना कर अपनी पत्नी को भेंट करने हेतु मंडावर (कनियातों की गुआर) निवासी मांगू सिंह रावत को राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के द्वारा स्वच्छ भारत मिशन में नवाचार करके क्षेत्र में प्रेरणास्त्रोत बनने पर “मुख्यमंत्री स्वच्छता सम्मान” प्रदान किया गया । मांगू सिंह को मुख्य-मंत्री स्वच्छता सम्मान मिलने पर सरपंच प्यारी रावत, ग्राम सेवक भगवान सहाय मीणा, पंचायत सहायक राजेंद्र सिंह, मेघ सिंह, चंदन सिंह, प्रेरक प्रेम सिंह, सुमित्रा चौहान, मगरा विकास मंच अध्यक्ष जसवंत सिंह, ग्राम विकास समिति अध्यक्ष चुन्नासिंह चौहान, बीजेपी अध्यक्ष नेतसिंह कनियात, वार्डपंच पानी देवी कार्यकर्ता सायर देवी ने हर्ष व्यक्त किया है।

करवा चौथ पर शौचालय किया था गिफ्ट

स्वच्छ भारत मिशन के तहत सरपंच प्यारी रावत के प्रेरणा पर मांगू सिंह ने अपनी पत्नी को करवा चौथ पर शौचालय बना कर गिफ्ट किया था । इस बात को लेकर गांव, पूरे जिले एवं देशभर में चर्चा का विषय बना रहा ।इस तरह करवा चौथ पर शौचालय गिफ्ट करने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी ट्विटर पर ट्वीट किया और प्रेरणास्त्रोत मांगू सिंह व सरपंच प्यारी रावत को बधाइयां प्रेषित की।

Read more »

हिन्दुस्तान जिंक द्वारा दरीबा में युवाओं को खनन क्षेत्र में प्रशिक्षण के छठे बैच का शुभारम्भ

By |

हिन्दुस्तान जिंक के दरीबा परिसर में जम्बों ड्रील आॅपरेटर के छठे बैच का उद्घाटन किया गया। राजस्थान से चयनित कुल 120 प्रशिक्षणार्थी उपस्थित थे। यह कार्यक्रम हिन्दुस्तान जिंक के तीन लोकेशन में आईआईएसडी एवं एससीएमएस के संयुक्त तत्वावधान से चलाया जा रहा है। चयनित आटीआई व डिप्लोमा उत्तिर्ण युवाओं द्वारा प्रशिक्षण प्राप्त किया जा रहा है। कार्यक्रम की अध्यक्षता हिन्दुस्तान जिंक दरीबा काॅम्पलेक्स के साईट प्रेसिडेंट के सी मीणा ने की।


शुभारंभ के अवसर पर के सी मीणा, साईट प्रसीडेन्ट दरीबा ने अपने उद्बोधन में कहा ‘‘सभी प्रशिक्षणार्थी आज से ही अपने भविष्य का आधार रखने जा रहे है। प्रशिक्षण के दौरान अनुशासन एवं सुरक्षा के नियमों का पूरी तरह से पालन करें। जीवन में ईमानदारी, मेहनत एवं लगन से नियमों का पालन करगें तो सफलता आपके कदम चुमेगी ऐसा मेरा विश्वास है, और सफलता के दरवाजे आपके लिए हमेशा खुले रहेगें।‘‘
अपने उद्बोधन में संजय शर्मा ने कहा कि कुल 2700 युवाओं ने परीक्षा में भाग लिया जिनमें से 120 का लिखित, साक्षात्कार एवं मेडिकल परिक्षण के बाद योग्यतानुसार चयन किया गया, चयन में कटआॅफ 80 प्रतिशत रहा। यह प्रसन्नता का विषय है कि पूर्व के बैच से 136 युवाओं का ट्रेनिंग के दौरान ही केम्पस प्लेसमेन्ट हो गया जिनका औसत वेतन 25 हजा़र प्रतिमाह रहा। जिन मशीनों को चलाने के लिए विदेश से कुशल व्यक्ति आते है उनकी ट्रेनिंग हम यहीं पर करवा कर राजस्थान के युवाओं को अवसर प्रदान कर रहें है ।
कार्यक्रम के दौरान जम्बो ड्रील आॅपरेटर के रूप में कार्यरत प्रशिक्षणार्थियों ने अपने अनुभव बांटते हुए हिन्दुस्तान जिंक का आभार प्रकट करते हुए कहा कि हिन्दुस्तान जिंक द्वारा प्रशिक्षण के माध्यम से वह आज कुशल आॅपरेटर है। इस अवसर पर नव चयनित प्रशिक्षुओ ने हिन्दुस्तान जिंक का आभार व्यक्त किया एवं प्रशिक्षण को निष्ठा एवं लगन से पूरा करने की प्रतिबद्धता दोहराई। इस अवसर पर युवाओं के प्रोत्साहन के साथ साथ चौथे बेैच के टाॅपर्स थे उन्हें प्रमाण पत्र के साथ साथ नगद राशि से सम्मानित किया गया।
हिन्दुस्तान जिंक के हेड-कार्पोरेट कम्यूनिकेशन पवन कौशिक ने बताया कि हिन्दुस्तान जिंक वर्तमान समय की मांग के अनुसार भारत की संभवतया पहली माइनिंग एकेडमी की स्थापना के साथ देश में खनन क्षमता वर्धन में योगदान दे रहा है। यह निश्चित रूप से खनन क्षेत्र में भारत की क्षमता को बढ़ाने और देश को विकास पथ पर अग्रसर करने की ओर कदम है।
हिन्दुस्तान जिंक की ओर से सामाजिक उत्तरदायित्व के तहत स्किल काउन्सिल फोर माईनिंग सेक्टर तथा इण्डियन इन्स्टीट्यूट आॅफ स्किल डवलपमेंट के सहयोग से राज्य के युवाओं को खनन क्षेत्र में प्रशिक्षण दिया जा रहा है। यह प्रशिक्षण कार्यक्रम सरकार से मान्यता प्राप्त प्रमाण पत्र युवाओं को अच्छा रोजगार प्राप्त करने में सहायक एवं अति महत्वपूर्ण होगा।


कार्यक्रम में संजय खटोड़ युनिट हेड राजपुरा दरीबा मांईस, सुनिल दिक्षित काॅमर्शियल हेड, अभय गौतम, हेड सीएसआर, रवि गुप्ता टे्निंग एचआर हेड, दीपक गखरेजा लोकशन एचआर हेड, राजपुरा दरीबा काॅम्पलेक्स एवं एससीएम से दिपक मिश्रा, आईआईएसडी से अंशुक तलवार उपस्थित थे ।
ज्ञातव्य रहे कि प्रशिक्षण के लिए अभ्यार्थी की शैक्षणिक योग्यता हिन्दी एवं अंग्रेजी भाषा में दक्षता के साथ किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से इलेक्ट्रीशियन, फीटर, मैकेनिक,डीजल,मोटरड्राईंग एवं मैकेनिक,मैकेनिक मोटर गाडी में आई.टी.आई. अथवा मैकेनिक, आॅटोमोबाईल , माईंनिंग , इलेक्ट्रीकल में डिप्लोमाधारी हो। भारी एवं हल्के वाहन चलाने के लाईसेन्सधारी अभ्यार्थियों को प्राथमिकता दी गई थी।

प्रशिक्षण की अवधि डेढ़ वर्ष होगी। इस अवधि के पूर्व सफलतापूर्वक प्रशिक्षण करने एवं जांच परीक्षा में उत्तीर्णपरांत अभ्यार्थियों का प्रमाण पत्र के साथ-साथ देश विदेश में किन्ही भी खनन इकाईयों में आवश्यकता होने पर नियोजन हेतु मार्गदर्शन दिया जाएगा।

Read more »

हल्दीघाटी में महाराणा प्रताप राष्ट्रीय स्मारक की दुर्दशा पर जिम्मेदार हुए मौन !!

By |





विकास के नाम पर हुए भ्रष्टाचार की उच्च स्तरीय जाँच एजेंसी से जांच कराने की मांग

राजसमंद । राजसमंद जिला प्रशासन को धोखे में रख राष्ट्रीय स्मारक हल्दीघाटी व चेतक स्मारक के नजदीक सड़क पर बलीचा में घोड़े की मूर्ति लगाने के नाम पर सरकारी भूमि पर अतिक्रमण करने व कथित संग्रहालय नाम की दुकान के आगे आ रही पहाड़ी नष्ट करने की साजिश का मामला प्रकाश में आया हैं। पूर्व में सन २००७ की बैठकों में चेतक नाले पर बने व्यू पॉइंट पर घोड़े की मूर्ति लगाने की योजना थी।
जानकारी के अनुसार यह सोची समझी साजिश के तहत घोड़े का एकदिवसीय मेला कराने की आड़ में बेशकीमती भूमि पर अतिक्रमण का मामला है जिस पर प्रशासनिक सवा तीन लाख की अलग से स्वीकृति संदेह को गहरा करती है। उनवास ग्राम पंचायत के जनसेवकों का कहना है कि जिला प्रशासन को इसकी पूर्व में लिखित सूचना देकर किसी भी प्रकार के आवंटन पर रोक लगाने की मांग की गई थी। आराजी संख्या 924 चरागाह को बिलानाम करा कर पूर्व में भी इसी तरह अतिक्रमण कर ५ बीघा जमीन तो हड़पी जा चुकी है अब शेष रह गई जमीन पर पार्किंग बना कर राजस्व नुकसान सहित ऐतिहासिक प्राकृतिक धरोहर को नब्बे फीसदी नष्ट किया जा चुका है। हालात यह है कि बलीचा निवासी वर्तमान अतिकर्मी सेवानिवृत शिक्षक द्वारा हल्दीघाटी को अपनी निजी दुकान बना कर रख दी गई है। .. रक्त तलाई – शाहीबाग-हल्दीघाटी दर्रा – चेतक समाधी व स्मारक पर्यटकों के अभाव में सूने पड़े रहते व भ्रमित सूचनाओं के आधार पर पर्यटक सीधा बलीचा जाकर उसे ही हल्दीघाटी समझ 100 रुपया खर्च कर भी मूल धरोहरों को देखने से वंचित रह जाता है।



भ्रष्टाचार की भी कोई तो सीमा होगी ? देश के प्रधान सेवक की राष्ट्रभक्ति पर शक नहीं किया जा सकता तो क्या उनके अधीन आ रहे राजसमंद के सभी जन सेवक भी उसी ईमानदारी के साथ महाराणा प्रताप के स्थलों के साथ न्याय कर रहे है ? यह सोचनीय एवं गंभीर विषय है। अब पूंजीवाद के आगे आखिर कब तक नेता व अधिकारी अपनी आँख बंद कर महाराणा प्रताप राष्ट्रीय स्मारक हल्दीघाटी सहित समूची रणभूमि के बदहाल हालात देखते रहेंगे? राष्ट्रीय महत्व के स्मारक का शिलान्यास 1997 में होता है व महाराणा प्रताप की चेतक पर अश्वारूढ़ प्रतिमा २००९ में लगती है ! बावजूद इसके संरक्षण सभी जिम्मेदार अधिकारी व नेता न जाने कौनसी हिस्सेदारी निभाने के फेर में भ्रष्ट अतिकर्मी को सरकारी भूमि पर अतिक्रमण करने व सरकारी संग्रहालय को कागजों में दबा कर निजी दुकान की स्वीकृति दे देते है ? सत्य यह है कि २००७ में चेतक द्वारा लांघे गए ऐतिहासिक नाले पर पर्यटकों के लिए व्यू पॉइंट बनाने व यहाँ पर घोड़े की मूर्ति लगाने का प्रारूप रहा था ! अव्वल अधूरे स्मारक का उद्घाटन किया गया , सिर्फ इतना ही नहीं इसके सं्चालन की जिम्मेदारी जिला कलक्टर के अधीन १९९३ में बने कागजी महाराणा प्रताप स्मृति संस्थान को सौंपी गई। आखिर पूंजीवादी संस्थापक महासचिव श्रीमाली को यह बात कहाँ गले उतरने वाली थी। … उसके द्वारा सरकार को बौना साबित करने के चक्कर में कई हथकंडे अपनाये गए व आज पूरी पहाड़ी का प्राकृतिक स्वरुप ही नष्ट कर दिया गया हैं ! पर्यटकों को भ्रमित करने के लिए सड़कों पर बलीचा में चल रही निजी दुकान को संग्रहालय का नाम देकर देश के बड़े बड़े नेताओं सहित शीर्ष अधिकारियों इस कदर गुमराह किया हुआ कि पर्यटक हल्दीघाटी के नाम पर चल रही निजी दुकान में 100 रूपये देख मेवाड़ के महानायक वीर शिरोमणि महराणा प्रताप का नकली भाला व अन्य सामग्री देख ठगे जा रहे हैं
उदयपुर के पर्यटन विभाग ने तो जैसे समूची हल्दीघाटी पूर्व में आरटीडीसी चलाने वाले अतिकर्मी ठेकेदार को ही ठेके पर दे रखी हो ऐसा बर्ताव कर महाराणा प्रताप का दशकों से अपमान किया है। अब देखना यह है कि, कौनसा देशभक्त जनसेवक इस रणधरा की सुध लेकर भ्रष्ट पूंजीवादी ताकतों को संविधान के अनुसार न्याय दिलायेगा। स्थानीय हल्दीघाटी पर्यटन समिति के संस्थापक कमल मानव ने राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री ,गृहमंत्री , पर्यटन मंत्री सहित प्रदेश की मुख्यमंत्री से हल्दीघाटी के विकास एवं वर्तमान तक विकास के नाम पर हुए भ्रष्टाचार की जाँच करवाए जाने की सोशल मीडिया पर ट्वीट कर माँग की है।
उल्लेखनीय है कि स्थानीय उपखण्ड स्तरीय सतर्कता समिति में २००७ में भी अतिक्रमण की शिकायत पर अतिकर्मी मोहनलाल श्रीमाली को भविष्य में किसी भी प्रकार का कोई अतिक्रमण नहीं करने को पाबंद कराया गया था।


Read more »

महाराणा प्रताप के 477 वें जन्मदिवस पर तीन दिवसीय मेले का शुभारम्भ

By |




अमर सेनानी प्रताप का स्वाभिमान  सर्वोच्च आदर्श – सांसद राठौड़ 
रक्त तलाई में शहीदों को किया नमन – रणबांकुरों की सेना बनी मुख्य आकर्षण 
खमनोर । चाहे कोई भी परिस्थिति हो हमें राष्ट्र के प्रति समर्पण भाव रख कर राष्ट्र हित को सर्वोच्च हित पर रख कर अपने जीवन को यापन करने का सन्देश जो महाराणा प्रताप ने अपने जीवन में जी कर सन्देश हमको दिया है उसको अपने जीवन में अंगीकार कर उस दिशा में आगे बढ़ने से प्रताप जयंती मनाना सार्थक होगा । यह विचार राजसमंद सांसद हरिओम सिंह राठौड़ ने महाराणा प्रताप की 477 वीं जयंती के उपलक्ष्य में पंचायत समिति खमनोर द्वारा आयोजित प्रताप जयंती मेले के शुभारंभ पर मुख्य अतिथि पद से सम्बोधित कर रखे। उन्होंने युवाओं से प्रताप के देश प्रेम और स्वाभिमान सहित त्याग,बलिदान व संघर्ष से प्रेरणा लेने को कहा ।
विधायक कल्याण सिंह चौहान ने पूर्व उपराष्ट्रपति भैरु सिंह शेखावत को याद कर उनके द्वारा प्रताप से जुड़े स्थलों के विकास में राजनीति को दूर रख कार्य करने की सिखावनी को दोहराया व महापुरुषों के नाम पर होने वाली राजनीति से आहत हो भाजपा में शामिल होने के तत्कालीन घटनाक्रम का जिक्र किया।लगातार दूसरी बार विधायक बने चौहान ने मुख्य रणभूमि रक्त तलाई सहित मूल दर्रे एवं राष्ट्रीय स्मारक के विकास पर कुछ नहीं कहते हुए उन्होंने प्रताप के नाम चल रही निजी प्रदर्शनी की सराहना की जिसका प्रवेश प्रति व्यक्ति सौ रुपया है। ज्ञात रहे कि सरकारी संग्रहालय भ्रष्टाचार के कारण आज भी नहीं बन पाया है । महाराणा स्मृति संस्थान द्वारा हल्दीघाटी विकास की बाते 1993 से की जा रही है। कलक्टर पदेन अध्यक्ष व सांसद, विधायक, जिला प्रमुख , प्रधान आदि इसके संरक्षक है ।वर्तमान में राष्ट्रीय स्मारक का संचालन इसी संस्थान पास है ।
पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार ने गौरवशाली इतिहास पुरुष महाराणा प्रताप की जयंती पर समारोह में आमंत्रित करने पर आयोजकों को धन्यवाद दिया व प्रताप से प्रेरणा लेने का आव्हान किया । जिला प्रमुख प्रवेश सालवी ने मेले को सम्बोधित कर प्रताप को सांप्रदायिक एकता की मिसाल बताया ।




प्रताप जयंती के अवसर पर हल्दीघाटी में उत्सव सा माहौल है मेले की शुरुआत रक्त तलाई स्थित शहीद स्मारकों, चेतक समाधी व राष्ट्रीय स्मारक पर पुष्पांजलि कर जय हल्दीघाटी नवयुवक मंडल द्वारा वाहन रैली के रूप में हुई महाराणा प्रताप सहित प्रमुख योद्धाओं का रूप धारण कर युवाओं ने इतिहास को जीवंत कर दिया ।
प्रधान शोभादेवी पुरोहित , उप प्रधान दलजीत सिंह , विकास अधिकारी वीरेंद्र जैन सहित सभी गणमान्य अतिथियों ने सर्वधर्म समभाव का प्रदर्शन कर रामशाह तंवर की छतरियों पर पुष्पांजलि कर झाला मान की छतरी पर श्रद्धासुमन अर्पित किये हाकिम खान की मजार पर चादर चढ़ाई साथ ही श्रीमाली ब्राह्मण शहीद की सती के स्मारक पर चुनरी ओढ़ा कर नमन किया स्वच्छता का सन्देश देते कलश को प्रधान द्वारा सिर पर रख शोभायात्रा को आरम्भ किया गया ।




श्रीनाथजी मंदिर के बैंड की मधुर धुन पर मंडल के युवा अश्वारूढ़ प्रताप सहित वाहन व ऊंट पर सवार प्रमुख योद्धा के रूप में खमनोर कस्बे का भ्रमण कर बस स्टैंड स्थित प्रतिमा पर पुष्पांजलि कर मेला प्रांगण शाहीबाग पहुंचे।मेला उद्घाटन समारोह की अध्यक्षता प्रधान शोभादेवी पुरोहित ने की मुख्य अतिथि हरिओम सिंह राठौड़ रहे।
मुख्य अतिथि द्वारा विधिवत मेला शुभारम्भ की घोषणा कर विशिष्ट अतिथियों के साथ ध्वजारोहण किया गया ।आरम्भ में मंच पर प्रताप चित्र पर पुष्पहार चढ़ाते हुए दीप प्रज्वलित किया गया। सभी मेहमानों का स्वागत सम्मान आयोजक पंचायत समिति व जैन एकता मंच द्वारा मेवाड़ी परम्परानुसार किया गया ।मंडल अध्यक्ष चेतन पालीवाल द्वारा प्रताप की सेना बने कलाकारों का परिचय देकर उन्हें सम्मानित कराया गया।
जय माँ आदिवासी लोक कला मंडल नाथद्वारा के कलाकारों द्वारा स्वागत गीत,नृत्य की प्रस्तुति दी गई। नृत्यांगना लुईसा टेलर के नृत्य प्रस्तुति पर नकद पारितोषिक प्रदान किया गया। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा प्रस्तुत जादूगर के खेल के जरिये सरकारी कल्याणकारी योजनाओं की जानकारियां दी गई । धन्यवाद उपप्रधान दलजीत सिंह चुण्डावत ने अर्पित किया ।
 विशिष्ट अतिथियों में स्वतंत्रता सैनानी मदन मोहन सोमाटिया, नाथद्वारा विधायक कल्याण सिंह चौहान, जिला प्रमुख परेश सालवी,नगरपालिका नाथद्वारा अध्यक्ष लालजी मीणा ,जिला पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार , भाजपा जिलाध्यक्ष भंवर लाल शर्मा , उपखण्ड अधिकारी सुश्री निशा अग्रवाल , उप अधीक्षक कान सिंह भाटी तहसीलदार राजेंद्र भारद्वाज , समाजसेवी जमनालाल पालीवाल, खमनोर सरपंच ममता वीरवाल, उप सरपंच प्रकाश पालीवाल ,भाजपा नेता नन्दलाल सिंघवी, सरपंच संघ अध्यक्ष सोहन सिंह , भाजपा प्रदेश प्रतिनिधि केशर सिंह चुण्डावत कूंठवा, खमनोर मंडल अध्यक्ष नवनीत पालीवाल, कोठारिया मंडल अध्यक्ष हरदयाल सिंह चौहान , पंचायत समिति सदस्य अमर सिंह , अधिवक्ता अशोक वैष्णव,एस एच ओ मदन सिंह चौहान  आदि रहे ।संचालन शिक्षाविद जमनालाल माली, गोपाल माली एवं अधिवक्ता संदीप मांडोत ने किया।
सेमा चौराहे पर मॉडल स्कूल के विद्यार्थियों ने मनाई प्रताप जयंती – 
प्रताप सर्किल सेमा में स्वामी विवेकानन्द राजकीय मॉडल स्कूल सेमा व ग्रामवासियों द्वारा प्रताप जयंती मनाई गई l प्रधानाचार्य प्रेम शंकर माली, अ.भा.वि.प.जिलाध्यक्ष चित्तोडगढ ओम प्रकाश जटिया ,भेरूलाल सेन, त्रिलोक माली,व लक्ष्मीलाल भील द्वारा प्रताप प्रतिमा पर तिलक माल्यार्पण व दीप प्रज्वलित किया गया l इस दौरान हरीश सालवी ने “अरे घास री रोटी” कविता से प्रताप की मातृभूमि प्रेम,व त्याग का गुणगान किया गया l प्रेम शंकर माली द्वारा प्रताप की जीवनी पर प्रकाश डाला गया I इस अवसर पर सोहनलाल माली ,पवनकुमार टांक ,दिनेशचन्द्र ,हीना वैष्णव ,भंवरलाल ,जमनालाल ,लखन सिंह ,मंजू सेन ,ग्रामवासी व विद्यार्थी मौजूद थे I

Read more »

पीएम के स्वच्छ भारत मिशन में अद्भुत कमाल कर दिखाया राजसमन्द की बेटियों ने

By |





अभावों से जूझ रही दो बहनों ने लहराया बदलाव का परचम
नियति की छाती पर सवार होकर मुँह बोला महिला सशक्तिकरण

– डॉ. दीपक आचार्य , सहायक निदेशक (सूचना एवं जनसम्पर्क), राजसमन्द


पिता का साया सर से उठ गया। कैंसर से ग्रस्त विधवा माँ का उदयपुर और अहमदाबाद में ईलाज चल रहा है। परिवार में कमाने वाला कोई नहीं है इस वजह से दोनों बहनें मिलकर सिलाई का काम करती हैं और उसी से जैसे-तैसे घर चल पाता है। जीवन से संघर्ष और अभावों के साये में जैसे-तैसे जिन्दगी गुजर रही है। नियति ने इस परिवार पर ऎसा कहर ढाया है कि समस्याओं और परेशानियों की कल्न्पना भी नहीं की जा सकती।
जीवन के यथार्थ से रूबरू कराने वाली यह मार्मिक कहानी है राजसमन्द जिले की राजसमन्द पंचायत समिति के छोटे से गांव बामनटुकड़ा की, जहाँ की दो लड़कियों से सारे अभावों और पीड़ाओं के बावजूद ऎसा कुछ कर दिखा रही हैं कि इसने यह सिद्ध कर दिया है कि परिस्थितियां चाहे कितनी ही विकट क्यों न हों, हौंसलों बूते आसमान की उड़ान पायी जा सकती है।
कोमल हाथों ने रखी ठोस बुनियाद


प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की पहल पर चल रहे स्वच्छ भारत मिशन में भागीदार बनी इन दोनों बहनों ने अपने घर में शौचालय बनवा लिया और गुणवत्ता युक्त काम सुनिश्चित करने और धन की मितव्ययता की दृष्टि से इन दोनों ने शौचालय निर्माण के लिए कारीगर के काम मेंं हाथ बँटाया। इसके लिए उन्होंने अपनी बचत के पैसों का उपयोग किया और शौचालय निर्माण करा दिया।
नियति की निर्ममता भर क्रूर कहानी की पात्र मासूमियत से भरी राधा और सीता बताती हैं कि दूर बाहर खुले में शौच जाने में शर्म आती थी और इसीलिए उन्होंने तय कर लिया कि खुले में शौच नहीं जाएंगी, इसलिए जल्द से जल्द अपने घर में शौचालय बनाने का प्रण किया और पूरी मेहनत करते हुए शौचालय बना डाला। घर में ही शौचालय बन जाने से अब उनकी कई समस्याएं दूर हो गई हैं। बेटियों और माँ के साथ घर आने वाले मेहमानों के लिए भी यह शौचालय उपयोगी सिद्ध हो रहा है।
मनीष की समझाईश ने दिया आकार


दोनों बहनें बताती हैं कि वे लम्बे अर्से से सोच रही थीं कि उनके घर में कब शौचालय बने ताकि बाहर जाने की झंझटों और इससे जुड़ी ढेरों समस्याओं से मुक्ति प्राप्त हो सके। इसी बीच मनीष भैया की समझाईश पर उन्हें अच्छा लगा और उन्होंने उनसे प्रेरणा पाकर ठान ली कि अपने घर में भी शौचालय होगा ही होगा।
यह मनीष भैया वही शख्स हैं जिनका पूरा नाम मनीष दवे है और वे राजसमन्द जिले में स्वच्छ भारत मिशन में तन-मन-धन ने दिन-रात जुटे हुए हैं। घर-घर शौचालयों के निर्माण और ग्राम पंचायतों को ओडीएफ बनाने की धुन के पक्के मनीष दवे ने मानदेय भी ठुकराया और अपने मिशन में लगे हुए हैं। उनके इस समर्पित कर्मयोग को देखते हुए जिला प्रशासन ने गणतंत्र दिवस पर जिलास्तरीय सम्मान से नवाजा भी है। आज मनीष दवे राजसमन्द जिले में सेनिटेशन चैम्पियन के रूप में मशहूर हैं।
मार्मिक है करुण कहानी
राधा और सीता के परिवार की मार्मिक कहानी सुनकर भावुक हुए बिना नहीं रहा जा सकता। 26 वर्षीय सीता प्रजापत और उनकी छोटी बहन 22 वर्षीय राधा प्रजापत ने करुण स्वरों में अत्यन्त भावुक होते हुए बताया कि उनके घर में कुल जमा तीन लोग हैं।
नियति की बेरहमी देखियें कि करीब 22 वर्ष पूर्व राधा गर्भ में थी उसी वक्त पिता श्री उदयलाल प्रजापत की दुर्घटना में मृत्यु हो गई। राधा को पिता का चेहरा तक देखना नसीब नहीं हुआ। पिता की मौत के चार माह बाद राधा का जन्म हुआ। पिता की असामयिक मृत्यु के वज्रपात के साथ ही पूरे परिवार पर संकट के बादल मण्डराने लगे।
ऎसे में माँ श्रीमती गंगा देवी ने खेती-बाड़ी और मेहनत-मजदूरी कर अपनी दोनों बच्चियों को पाल पोसकर बड़ा किया। घर की जिम्मेदारियों के कारण सीता पाँचवी से आगे नहीं पढ़ पाई लेकिन उसने अपनी छोटी बहन राधा की पढ़ाई में खूब मदद की और चाहा कि उसकी कमी राधा पूरी कर दे और आगे पढ़-लिखकर काबिल हो जाए।
थमा नहीं संघर्ष का सफर
इस परिवार की करुण कहानी का अंत यहीं नहीं हुआ बल्कि सीता की बचपन में ही शादी अमरतिया गांव में कर दी गई लेकिन पति के खराब व्यवहार को देखकर बाद में संबंध विच्छेद कर दिए। इसके बाद से सीता पीहर में ही है। छोटी बहन राधा स्वयंपाठी के रूप में हिन्दी में एम.ए. कर रही है।
माँ की सेवा सर्वोपर
राधा की शादी पुनावली में हुई है और उसके पति मुम्बई में काम-धंधे में लगे हुए हैं। सीता और राधा की माँ गंगादेवी को कैंसर की बीमारी है और उनका उदयपुर तथा अहमदाबाद में ईलाज चल रहा है। माँ की सेवा का ज़ज़्बा रखने वाली सीता और राधा पीहर में रहकर सिलाई का काम कर घर चला रही हैं। राजसमन्द जिला मुख्यालय से 16 किलोमीटर दूर बामनटुकड़ा गांव और आस-पास के गांवों के लोगों के परिधान सिलने वाली बहनों सीता और राधा की पूरे इलाके में खूब इज्जत है। इनकी माँ गंगादेवी को विधवा पेंशन मिल रही है जबकि परिवार को बीपीएल के फायदों से भी जोड़ा गया है।
संघर्षों और अभावों के बीच पली-बड़ी सीता और राधा की जिन्दगी अपने आप में महिला सशक्तिकरण और आत्मनिर्भरता के साथ स्वच्छता का अनुकरणीय संदेश भी संवहित कर रही हैं।







Read more »

लूट के दो आरोपियों कोे खमनोर पुलिस ने किया गिरफ्तार

By |




खमनोर। अपराध नियंत्रण की श्रृंखला में खमनोर पुलिस द्वारा लूट के दो आरोपियों को हिरासत में लिया गया है।
मदन सिंह चौहान थानाधिकारी खमनोर ने जानकारी देकर बताया कि प्रार्थी मन्नालाल पिता भैरुलाल गुुर्जर निवासी खेडलिया ने एक लिखित रिपोर्ट पेश की जिसमे 26 फ़रवरी 2017 को प्रार्थी की भुआ जी श्रीमती खीमीबाई गुर्जर बीडे में बकरीया चराने गई थी। उस समय दो अज्ञात व्यक्तियो ने प्रार्थी की भुआ जी के साथ मारपीट कर गले में पहने हुऐ तीन सोने के मादलिये लूट कर ले गये। जिस पर थाना खमनोर पर प्रकरण दर्ज कर अनुसंधान प्रारम्भ किया गया। जिला पुलिस अधीक्षक राजसमन्द डाॅ. विष्णुकान्त के आदेशानुसार टीम गठित की गई। थाना खमनोर थानाधिकारी मदनसिंह चौहान के नेतृत्व में इस टीम में हैड कांस्टेबल भगवतसिंह, कांस्टेबल. शिवदर्शनसिंह, विरेन्द्रसिंह, दारासिंह की इस वारदात को खुलासा करने में महत्वपुर्ण भूमिका रही है। लुट की घटना के खुलासे के लिए गठित टीम, मुखबीर सूचना के आधार पर अपराधी सागरलाल उर्फ लाला उर्फ ठाकुर पिता रुपलाल मेघवाल उम्र 21 साल निवासी काजियावास थाना नाथद्वारा, देवीसिंह उर्फ मिथुन सिंह पिता महेन्द्रसिंह राजपुत उम्र 20 साल निवासी सिया की बावडी कोटेला थाना नाथद्वारा जिला राजसमन्द को उक्त प्रकरण में गिरफ्तार कर उनसे टीम द्वारा गहनता से पुछताछ व अनुसंधान किया गया तो उक्त दोनो आरोपीयो ने उक्त लूट की घटना को अंजाम देना स्वीकार किया। उक्त दोनों आरोपियो से घटना में प्रयुक्त मोटर साईकिल व सोने की तीन मादलिये बरामद किये गये है। उक्त दोनो आरोपी घटना करने के बाद नागपुर व अहमदाबाद में रहे।







Read more »

राजसमन्द के आसमान में हवाई उड़ानों की तैयारी ~ केसुली की मोरजन पहाड़ी पर आरंभ होगा पैराग्लाइडिंग

By |

 

राजसमन्द। राजसमन्द के बाशिन्दों के लिए अप्रेल माह आसमानी उड़ान का सुकून लेकर आने वाला है जब राजसमन्द जिले में पैरा ग्लाइडिंग एवं सोलो फ्लाईट प्रशिक्षण की शुरूआत होने जा रही है। इसके लिए सभी जरूरी तैयारियां इन दिनों जारी हैं।

राजस्थान भर में यह अपनी तरह का पहला प्रशिक्षण होगा। इस तरह का प्रशिक्षण आरंभ करने वाला राजसमन्द राजस्थान का पहला जिला होगा। इससे राजसमन्द जिले में पर्यटन विकास के क्षेत्र में भी सुनहरा दौर आरंभ होगा। इसमें पैरा ग्लाइडिंग एवं सोलो फ्लाईट विशेषज्ञ पायलट कुं, अजितप्रताप सिंह प्रशिक्षण देंगे। इसमें 12 वर्ष से अधिक वर्ष आयु के स्वस्थ व्यक्ति प्रशिक्षण पा सकेंगे। इसके लिए नाथद्वारा तहसील अन्तर्गत केसुली गांव की मोरजन पहाड़ी और आस-पास का क्षेत्र हवाई उड़ान के लिए तकनीकि दृष्टि से उपयुक्त पाया गया है। प्रशिक्षण के लिए जिला कलक्टर श्रीमती अर्चना सिंह ने प्रशिक्षण संचालक पायलट कुं. अजितप्रताप सिंह को अनुमति जारी कर दी है।

पायलट कुंवर अजितप्रताप सिंह ने बताया कि पैराग्लाइडिंग के लिए पैराग्लाइडर, सेफ्टी बेल्ट, हेलमेट सहित सभी प्रकार के उपकरण प्रशिक्षण स्थल पर उपलब्ध हैं तथा परीक्षण के तौर पर इस समय पैराग्लाइडिंग जारी है।

उन्होंने बताया कि पैराग्लाइडिंग में रोजगार के व्यापक एवं सुनहरे अवसर हैं तथा हवाई उड़ान से संबंधित तमाम प्रकार के प्रशिक्षणों के लिए यह क्षेत्र सभी प्रकार की बाधाओं से रहित हैं। इससे राजसमन्द और आस-पास के इलाकों के युवाओं के लिए प्रशिक्षण की यह सुविधा उनके सुनहरे भविष्य के लिए बेहतर सिद्ध होगी।

कुं. अजितप्रतापसिंह ने बताया कि आमतौर पर पैराग्लाइडिंग का प्रशिक्षण चीन, नार्वे, ऑस्ट्रेलिया , कनाड़ा आदि कई देशों में उपलब्ध है लेकिन वहाँ की फीस बहुत ज्यादा है। सामान्य प्रशिक्षण कम से कम दस दिन का होगा। इस प्रशिक्षण के बाद युवाओं के लिए आकर्षक पैकेज में रोजगार के अवसर देश-विदेश में उपलब्ध हैं जिनका लाभ पाकर यहां के युवा आत्मनिर्भरता पा सकते है। इसी प्रकार सोलो फ्लाईट में अकेले आदमी हवाई उड़ान का लुत्फ लेता है। सोलो फ्लाईट का प्रशिक्षण पा लेने वालों के लिए टेन्डम (टू सीटर एयर टैक्सी) का प्रशिक्षण भी दिया जाएगा।

कुं. अजितप्रतापसिंह का सुझाव है कि केन्द्र और राज्य सरकार चाहे तो पैराग्लाइडिंग, सोलो फ्लाइट एवं टेन्डम को पर्यटन रोजगार से जोड़कर युवाओं को रोजगार की नवीन संभावनाओं से रूबरू कराकर आर्थिक विकास को नए आयाम दे सकती हैं।

उन्होेंने बताया कि ये सभी प्रकार के प्रशिक्षण इको फ्रैण्डली हैं और इसमें किसी भी प्रकार के प्रदूषण की कोई संभावना नहीं है। अप्रेल के प्रथम सप्ताह में इसकी शुरूआत की जाएगी।

केसुली गांव की मोरजन पहाड़ी पर परीक्षण के तौर पर चल रही पैराग्लाइडिंग ग्रामीणों के आकर्षण का केन्द्र बनी हुई है।

Read more »

16-17 को आंजना में कृषि प्रशिक्षण शिविर

By |

राजसमन्द 14 मार्च। कृषि एवं उद्यान विभाग के तत्वाधान में कृषकों की मांग पर 16 व 17 मार्च को दो दिवसीय फुलगोभी एवं सब्जी उत्पादन तकनीक पर कृषक प्रशिक्षण शिविर देवगढ पंचायत समिति की ग्राम पंचायत आंजना में आयोजित होगा।
विभाग के सहायक निदेशक विनोद कुमार जैन ने बताया कि उक्त प्रशिक्षण में लगभग एक सैकडा से अधिक कृषक हिस्सा लेंगे। जिन्हं महाराणा प्रताप कृषि विश्वविद्यालय के वै़ज्ञानिक एवं कृषि विभाग के कृषि अधिकारी सब्जी उत्पादन की नवीनतम एवं कारगर तकनीक का प्रशिक्षण प्रदान करेंगे। जैन ने बताया कि जिला कलक्टर के निर्देशन में आयोजित होने वाले इस प्रशिक्षण में भाग लेने के इच्छुक कृषक देवगढ के कृषि विभाग के कार्यालय में तथा कृषि पर्यवेक्षक के पास अपना पंजीकरण करवा सकते है।

Read more »