Posts Tagged “india”

परीक्षा पर चर्चा – छात्रों के साथ प्रधानमंत्री की बातचीत

By |

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने परीक्षा संबंधी विषयों पर छात्रों के साथ एक ‘टाउन हॉल’ सत्र में बातचीत की। उन्होंने यहां तालकटोरा स्टेडियम में आयोजित कार्यक्रम में छात्रों के प्रश्नों के जवाब दिये। छात्रों ने विभिन्न टेलिवीजन समाचार चैनलों, नरेन्द्र मोदी मोबाइल एप और माय-गव प्लेटफार्म के जरिये उनसे सवाल पूछे।

संवाद की शुरुआत करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि वे छात्रों, उनके माता-पिता और उनके परिवार का मित्र होने के नाते ‘टाउन हॉल’ सत्र में आए हैं। उन्होंने कहा कि वे विभिन्न मंचों के जरिये देशभर के 10 करोड़ लोगों से बातचीत कर रहे हैं। उन्होंने अपने अध्यापकों को याद करते हुए कहा कि उनके अध्यापकों ने उनमें ऐसे मूल्यों का निरूपण किया, जिससे उनके भीतर का छात्र आज भी जीवित है। उन्होंने सबका आह्वान किया कि वे अपने अंदर के छात्र को जीवित रखें।
2 घंटे चले इस आयोजन के दौरान प्रधानमंत्री ने कई तरह के सवालों के जवाब दिए, जिनमें घबराहट, चिंता, एकाग्रता, दबाव, मातापिता की आकांक्षा और अध्यापकों की भूमिका जैसे प्रश्न शामिल थे। उन्होंने अपने उत्तर में हाजिर जवाबी के साथ तरह-तरह के उदाहरण दिए।
उन्होंने आत्मविश्वास के महत्व को रेखांकित करने तथा परीक्षा के दबाव और चिंता के मद्देनजर स्वामी विवेकानंद का उदाहरण दिया। उन्होंने कनाडा के स्नोबोर्डर मार्क मैकमॉरिस का उदाहरण देते हुए कहा कि 11 महीने पूर्व उन्हें घातक चोट लगी थी और उनका जीवन खतरे में पड़ गया था, जिसके बावजूद उन्होंने शीतकालीन ओलंपिक खेलों में कांस्य पदक जीता है।
एकाग्रता के विषय में प्रधानमंत्री ने महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर की सलाह को याद किया जिसका जिक्र रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ में किया गया था। तेंदुलकर ने कहा था कि खेलते समय वे केवल उसी गेंद पर विचार करते थे, जो सामने होती थी। पिछली और अगली गेंदों के बारे में नहीं सोचते थे। प्रधानमंत्री ने कहा कि योग से एकाग्रता में सुधार होता है।
साथियों के दबाव के संबंध में प्रधानमंत्री ने ‘प्रतिस्पर्धा’ (दूसरों के साथ स्पर्धा) के बजाय ‘अनुस्पर्धा’ (अपने आप से स्पर्धा) के महत्व पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि व्यक्ति को अपने द्वारा किए गए पिछले कार्य से बेहतर काम करना चाहिए।
हर माता-पिता बच्चों के लिए कुर्बानी देते हैं। इसका उल्लेख करते हुए प्रधानमंत्री ने माता-पिता से आग्रह किया कि वे अपने बच्चों की उपलब्धियों को सामाजिक प्रतिष्ठा का मुद्दा न बनाएं। उन्होंने कहा कि हर बच्चे के पास कोई न कोई अनोखी प्रतिभा होती है।
प्रधानमंत्री ने कहा कि आईक्यू (बौद्धिक कौशल) और ईक्यू (भावनात्मक कौशल), दोनों का छात्र जीवन में बहुत महत्व होता है।समय के समायोजन के संबंध में प्रधानमंत्री ने कहा कि छात्रों के लिए पूरे साल की कोई समय सारणी या कोई टाइम-टेबल व्यवहारिक नहीं होता। आवश्यकता है कि लचीला रुख अपनाते हुए समय का पूरा उपयोग किया जाए।

Read more »

महाराणा प्रताप की पुण्यतिथि पर जिला मुख्यालय पर श्रद्धांजलि व हल्दीघाटी के संरक्षण की मांग

By |

राजसमन्द । वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप की 421 वीं पुण्यतिथि पर जिला मुख्यालय स्थित प्रताप प्रतिमा पर श्रद्धापूर्वक पुष्पांजलि कर जिले के प्रताप भक्त युवाओं ने महाराणा प्रताप स्मारक सहित रक्त तलाई, हल्दीघाटी के संरक्षण हेतु जिला कलेक्टर को मांग पत्र सौंप बरसों से चली आ रही लालफीताशाही पर रोक लगाने की मांग की है।


हल्दीघाटी पर्यटन विकास समिति के अध्यक्ष विश्वजीत सिंह ने समिति पदाधिकारियों, जय राजपूताना संघ व सर्व समाज के युवाओं के सानिध्य में सौंपे गए ज्ञापन में बताया कि वीर शिरोमणी महाराणा प्रताप के नाम पर एकमात्र स्मारक हल्दीघाटी में स्थित होकर विगत एक दशक से उपेक्षा का शिकार है। सरकारी संरक्षण के अभाव में मूल रणक्षेत्र रक्त तलाई,बादशाह बाग, मूल दर्रा, प्रताप गुफा,चेतक समाधी व स्मारक उपेक्षित है।

आरटीडीसी के बन्द होने से व जानकारी के अभाव में पर्यटक ऐतिहासिक धरोहरो को पीछे छोड़ 100 रुपया प्रति व्यक्ति प्रवेश शुल्क देकर निजी दुकान में हल्दीघाटी के बारे में जानकारी पाने पर मजबूर है। वर्तमान में प्राकृतिक स्वरुप को नष्ट किया जा रहा है। हल्दीघाटी के महाराणा प्रताप राष्टीय स्मारक पर 1997 में बनने वाला संग्रहालय बरसों पूर्व ही संदेहास्पद रुप से गायब हो गया व नजदीक ही सन 2003 से आरटीडीसी के पूर्व ठेकेदार का महाराणा प्रताप संग्रहालय के नाम से निजी व्यवसाय खुल गया।


विगत कई दशकों से लगातार हो रही हल्दीघाटी की उपेक्षा से आहत होकर सौंपे गए मांग पत्र में 1993 से वर्तमान तक महाराणा प्रताप स्मृति संस्थान व सदस्यों की कार्यशैली की जांचते हुए नयेे योग्य सदस्य बनाये जाने,  रक्त तलाई में शहीदों स्मारक स्थित विशाल ताल की मरम्मत कराते हुये उद्यान में मूर्तियां लगवा कर पर्यटन की दृष्टि से विकास कराने,
बादशाही बाग,हल्दीघाटी के मूल दर्रे व प्रताप गुफा का संरक्षण कर पर्यटन की दृष्टि से विकास कराने, आरटीडीसी के चेतक गेस्ट हाउस को खुलवाने,महाराणा प्रताप राष्टीय स्मारक हल्दीघाटी में सरकारी संग्रहालय का निर्माण कराने,चेतक नाले पर अधूरे निर्मित व्यू पाईन्ट का विकास कराते हुए यहां लगाई जाने वाली चेतक प्रतिमा स्थापित करने,रणभूमि रक्त तलाई से लेकर महाराणा प्रताप राष्टीय स्मारक के फ्लेक्स बोर्ड लगवा कर पर्यटकों को राहत प्रदान कराने की मांग की है।


बताया गया कि 2007 में नाथद्वारा उपखडं स्तरीय सर्तकता समिति में अतिकर्मी घोषित अतिकर्मी द्वारा स्मारक के नजदीक पुनः मूर्ति लगाने की आड़ में किये जा रहे अवैध अतिक्रमण के खिलाफ सख्त कार्यवाही की आवश्यकता है एवं महाराणा प्रताप स्मृति संस्थान के संस्थापक सदस्य द्वारा निजी व्यवयास के चलते स्मारक के संचालन में जो हस्तक्षेप कर रखा है उसकी जाचं करा ठोस कार्यवाही की मांग की गई है । मामले पर गम्भीरता पूर्वक कदम उठाते हुए दोषियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करा हल्दीघाटी का समुचित विकास की उम्मीद जताई व महाराणा प्रताप जयन्ती 2018 तक प्रशासन द्वारा मांग पत्र की उपेक्षा की स्थिति में जन आन्दोलन की चेतावनी दी गई।

इस दौरान हल्दीघाटी पर्यटन विकास समिति अध्यक्ष विश्वजीत सिंह चौहान,उपाध्यक्ष युवराज सिंह, महासचिव जितेंद्र सिंह राठौड़,सचिव जितेंद्र सिंह झाला,बलवीर सिंह चौहान,डालचंद मीणा, जितेंद्र सिंह चौहान,अभय सिंह,यशपाल सिंह,कालू सिंह सहित जय राजपूताना संघ के युवा कार्यकर्ता मौजूद रहे।

 

Read more »

हिन्दुस्तान जिंक द्वारा दरीबा में युवाओं को खनन क्षेत्र में प्रशिक्षण के छठे बैच का शुभारम्भ

By |

हिन्दुस्तान जिंक के दरीबा परिसर में जम्बों ड्रील आॅपरेटर के छठे बैच का उद्घाटन किया गया। राजस्थान से चयनित कुल 120 प्रशिक्षणार्थी उपस्थित थे। यह कार्यक्रम हिन्दुस्तान जिंक के तीन लोकेशन में आईआईएसडी एवं एससीएमएस के संयुक्त तत्वावधान से चलाया जा रहा है। चयनित आटीआई व डिप्लोमा उत्तिर्ण युवाओं द्वारा प्रशिक्षण प्राप्त किया जा रहा है। कार्यक्रम की अध्यक्षता हिन्दुस्तान जिंक दरीबा काॅम्पलेक्स के साईट प्रेसिडेंट के सी मीणा ने की।


शुभारंभ के अवसर पर के सी मीणा, साईट प्रसीडेन्ट दरीबा ने अपने उद्बोधन में कहा ‘‘सभी प्रशिक्षणार्थी आज से ही अपने भविष्य का आधार रखने जा रहे है। प्रशिक्षण के दौरान अनुशासन एवं सुरक्षा के नियमों का पूरी तरह से पालन करें। जीवन में ईमानदारी, मेहनत एवं लगन से नियमों का पालन करगें तो सफलता आपके कदम चुमेगी ऐसा मेरा विश्वास है, और सफलता के दरवाजे आपके लिए हमेशा खुले रहेगें।‘‘
अपने उद्बोधन में संजय शर्मा ने कहा कि कुल 2700 युवाओं ने परीक्षा में भाग लिया जिनमें से 120 का लिखित, साक्षात्कार एवं मेडिकल परिक्षण के बाद योग्यतानुसार चयन किया गया, चयन में कटआॅफ 80 प्रतिशत रहा। यह प्रसन्नता का विषय है कि पूर्व के बैच से 136 युवाओं का ट्रेनिंग के दौरान ही केम्पस प्लेसमेन्ट हो गया जिनका औसत वेतन 25 हजा़र प्रतिमाह रहा। जिन मशीनों को चलाने के लिए विदेश से कुशल व्यक्ति आते है उनकी ट्रेनिंग हम यहीं पर करवा कर राजस्थान के युवाओं को अवसर प्रदान कर रहें है ।
कार्यक्रम के दौरान जम्बो ड्रील आॅपरेटर के रूप में कार्यरत प्रशिक्षणार्थियों ने अपने अनुभव बांटते हुए हिन्दुस्तान जिंक का आभार प्रकट करते हुए कहा कि हिन्दुस्तान जिंक द्वारा प्रशिक्षण के माध्यम से वह आज कुशल आॅपरेटर है। इस अवसर पर नव चयनित प्रशिक्षुओ ने हिन्दुस्तान जिंक का आभार व्यक्त किया एवं प्रशिक्षण को निष्ठा एवं लगन से पूरा करने की प्रतिबद्धता दोहराई। इस अवसर पर युवाओं के प्रोत्साहन के साथ साथ चौथे बेैच के टाॅपर्स थे उन्हें प्रमाण पत्र के साथ साथ नगद राशि से सम्मानित किया गया।
हिन्दुस्तान जिंक के हेड-कार्पोरेट कम्यूनिकेशन पवन कौशिक ने बताया कि हिन्दुस्तान जिंक वर्तमान समय की मांग के अनुसार भारत की संभवतया पहली माइनिंग एकेडमी की स्थापना के साथ देश में खनन क्षमता वर्धन में योगदान दे रहा है। यह निश्चित रूप से खनन क्षेत्र में भारत की क्षमता को बढ़ाने और देश को विकास पथ पर अग्रसर करने की ओर कदम है।
हिन्दुस्तान जिंक की ओर से सामाजिक उत्तरदायित्व के तहत स्किल काउन्सिल फोर माईनिंग सेक्टर तथा इण्डियन इन्स्टीट्यूट आॅफ स्किल डवलपमेंट के सहयोग से राज्य के युवाओं को खनन क्षेत्र में प्रशिक्षण दिया जा रहा है। यह प्रशिक्षण कार्यक्रम सरकार से मान्यता प्राप्त प्रमाण पत्र युवाओं को अच्छा रोजगार प्राप्त करने में सहायक एवं अति महत्वपूर्ण होगा।


कार्यक्रम में संजय खटोड़ युनिट हेड राजपुरा दरीबा मांईस, सुनिल दिक्षित काॅमर्शियल हेड, अभय गौतम, हेड सीएसआर, रवि गुप्ता टे्निंग एचआर हेड, दीपक गखरेजा लोकशन एचआर हेड, राजपुरा दरीबा काॅम्पलेक्स एवं एससीएम से दिपक मिश्रा, आईआईएसडी से अंशुक तलवार उपस्थित थे ।
ज्ञातव्य रहे कि प्रशिक्षण के लिए अभ्यार्थी की शैक्षणिक योग्यता हिन्दी एवं अंग्रेजी भाषा में दक्षता के साथ किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से इलेक्ट्रीशियन, फीटर, मैकेनिक,डीजल,मोटरड्राईंग एवं मैकेनिक,मैकेनिक मोटर गाडी में आई.टी.आई. अथवा मैकेनिक, आॅटोमोबाईल , माईंनिंग , इलेक्ट्रीकल में डिप्लोमाधारी हो। भारी एवं हल्के वाहन चलाने के लाईसेन्सधारी अभ्यार्थियों को प्राथमिकता दी गई थी।

प्रशिक्षण की अवधि डेढ़ वर्ष होगी। इस अवधि के पूर्व सफलतापूर्वक प्रशिक्षण करने एवं जांच परीक्षा में उत्तीर्णपरांत अभ्यार्थियों का प्रमाण पत्र के साथ-साथ देश विदेश में किन्ही भी खनन इकाईयों में आवश्यकता होने पर नियोजन हेतु मार्गदर्शन दिया जाएगा।

Read more »

जिला प्रभारी मंत्री का स्वागत- पर्यटन केन्द्र की मांग

By |








नाथद्वारा।राष्ट्रीय ब्राह्मण युवजन सभा नाथद्वारा द्वारा पर्यटन मंत्री एवं नागरिक उड्डयन मंत्री कृष्णेन्द कोर दीपा, राजस्थान सरकार का स्वागत किया गया । राजसमंद जिलाध्यक्ष सदीप सनाढय व महिला अध्यक्ष संगीता शर्मा , योग गुरू प्रवीण सनाढय,लालन सनाढय आदि पदाधिकारी गण द्वारा माला पहनाकर उपरना ओढ़ा कर श्रीनाथजी की तस्वीर भेंट की और नाथद्वारा नगर के पर्यटन के विकास के लिये चर्चा कर राजसमन्द जिले मे पर्यटक सहायता केन्द्र खोलने की मांग की गई ।



Read more »

भौतिक से अधिक मानवीय विकास को अपनाएं – सांसद श्री राठौड़

By |





राजसमन्द 28 सितम्बर/ सांसद श्री हरिओम सिंह राठौड़ ने ग्रामीणों से कहा है कि अपनी जीवनशैली में भौतिक विकास की बजाय मानवीय विकास को अपनाकर जिले में हो रहे अभूतपूर्व विकास की मुख्यधारा में जुड़ें। व्यक्तिगत विकास करने की शैली को त्यागें तथा पूरी ग्राम पंचायत को अपना घर मानते हुए सामूहिक प्रयासों में जुटते हुए समग्र ग्राम्य विकास को मजबूती दें।

सांसद श्री राठौड़ बुधवार को रेलमगरा पंचायत समिति की सांसद आदर्श ग्राम पंचायत बामनिया कलां में आयोजित जिला कलक्टर की रात्रि चौपाल में उपस्थित ग्रामीणों तथा अधिकारियों को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने उपस्थित ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी ग्रामीणों को दें और यह अच्छी तरह सुनिश्चित करें कि योजनाएं मात्र खानापूर्ति बनकर न रह जाएं, इनका वास्तविल लाभ लक्ष्य समूह तक पहुंचे तथा उपयोगिता सिद्ध हो।  जिन परिवादों का निस्तारण ब्लॉक स्तर पर ही हो सकता है, उन्हें लम्बित न कर तत्काल निस्तारित करें।




विभागीय गतिविधियों के प्रति रहें गंभीर

रात्रि चौपाल में सांसद ने ग्रामीणों का आह्वान किया कि वे ग्राम पंचायत में संचालित राजकीय विद्यालयों, पकने वाले पोषाहार सामग्री की गुणवत्ता, आँगनवाड़ी केन्द्रों, अटल सेवा केन्द्र, पटवारी कार्यालयों आदि का नियमित रूप से अवलोकन करते रहें जिससे विभागीय जानकारी भी प्राप्त होगी तथा जनकल्याणकारी योजनाओं से लाभान्वित होने की प्रेरणा भी मिलेगी।




चौपाल में सांसद श्री राठौड़ ने ग्रामीणों के चिकित्सा, शिक्षा, बिजली, पेयजल, अतिक्रमण, कृषि आदि से संबंधित परिवाद सुने तथा इनके निस्तारण के लिए उपस्थित अधिकारियों को निर्देश दिए।

Read more »

महिलाओं ने रैली निकाल समारोहपूर्वक किया सी एल एफ का शुभारंभ

By |





खमनोर। राजस्थान ग्रामीण आजीविका विकास परिषद की ओर से खमनोर में क्लस्टर लेवल फेडरेशन का शुभारंभ सोमवार को हुआ।

समारोह में मुख्य अतिथि विकास अधिकारी वीरेंद्र कुमार जैन, अध्यक्षता जिला परियोजना प्रबंधक गौरव त्रिवेदी ने की। विशिष्ट अतिथी पूर्व ब्लॉक प्रबंधक भोमराज जीनगर थे। पूर्व ब्लॉक परियोजना प्रबंधक ने स्वागत उद्बोधन देते हुए राजीविका की विस्तृत जानकारी दी। जिसमें खमनोर कलस्टर में 136 से ज्यादा समूह और उनके ऊपर 13 ग्राम संगठन बन चूके हैं।

मुख्य अतिथि ने राजीविका द्वारा महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने की सराहना करते हुए कहा कि यह बीपीएल महिलाओं की आर्थिक उन्नयन की एक सीढ़ी है। यह योजना महाराणा प्रताप महिला क्लस्टर संगठन द्वारा क्षेत्र की महिलाओं के उत्थान में निश्चित ही सहायक सिद्ध होगी।


कार्यक्रम में सोडावास की समूह सखी टमा कुंवर ने गीत प्रस्तुत किया। संचालन बहादुर सिंह ने किया। ब्लॉक प्रबंधक लिज़ा जोसेफ ने आभार जताया। इस दौरान ब्लॉक अन्तर्गत ग्राम पंचायतों की सैंकड़ों महिलाएं मौजूद थी। महिलाओं ने गांव में बस स्टैंड होकर समारोह स्थल राजकीय महाराणा प्रताप आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय तक नाचते गाते रैली निकाली। महिलाओं का उत्साह देखते ही बन रहा था। क्लस्टर लेवल फेडरेशन के शुभारंभ पर संदीप झा,पूरन सिंह, शांतिलाल,रामलाल गुर्जर, लक्ष्मण गुर्जर सहित अन्य मौजूद रहे।

Read more »

दी आर्ट आॅफ लिविंग का रूरल यस कोर्स सम्पन्न

By |

खमनोर। सामाजिक संस्था दी आर्ट आॅफ लिविंग का रूरल यस कोर्स उच्च माध्यमिक विद्यालय शिशोदा में सम्पन्न हुआ।
प्रशिक्षक प्रवीण सनाढ्य ने बताया कि इस शिविर में 13 से 18 वर्ष की उम्र के बच्चों ने हिस्सा लिया। आयोजित शिविर में योग, प्रणायाम, ध्यान, सूर्य नमस्कार व श्वासों की अति दुर्लभ प्रक्रिया सुदर्शन क्रिया का विशेष प्रशिक्षण दिया गया।
शारीरिक शिक्षक गोपाल लाल व ओम पालीवाल ने जानकारी दे बताया कि समाज सेवा शिविर के दौरान यह शिविर पिछले 4 वर्षों से प्रतिवर्ष विद्यालय में आयोजित कराया जा रहा है। शिविर में कुल 55 बच्चों ने भाग लिया।
इस शिविर से बच्चों में अपनी आंतरिक शक्ति का अहसास कर अभ्यास के चलते पर्याप्त शारीरिक, मानसिक एवं आध्यात्मिक परिवर्तन हुए जिससे उनके आत्मविश्वास में वृद्धि हुई है।

Read more »

राजसमन्द जिला मुख्यालय पर अभियोजन भवन का लोकार्पण

By |

राजस्थान के हर जिले में होगा अभियोजन भवन – गृह मंत्री
समग्र विकास के भरसक प्रयास जारी – उच्च शिक्षा मंत्री

राजसमन्द  । राजस्थान में लोक अभियोजन क्षेत्र से संबंधित सुविधाओं में बढ़ोतरी के लिए राज्य सरकार भरसक प्रयास कर रही है और जहाँ भूमि की उपलब्धता होगी वहाँ लोक अभियोजन के लिए आवश्यकता के अनुरूप भवन निर्माण का कार्य किया जाएगा। इस कार्य में क्षेत्रीय जन प्रतिनिधियों से भी सहयोग प्राप्त किया जाएगा।
गृहमंत्री गुलाबचन्द कटारिया ने शनिवार को राजसमन्द जिला मुख्यालय पर न्यायालय परिसर के समीप 75 लाख की लागत से नवननिर्मित सहायक निदेशक अभियोजन कार्यालय के लोकार्पण समारोह को संबोधित करते हुए यह जानकारी दी।
समारोह में उच्च शिक्षा मंत्री श्रीमती किरण माहेश्वरी मुख्य अतिथि थीं जबकि क्षेत्रीय सांसद हरिओमसिंह राठौड़, जिला एवं सत्र न्यायाधीश  नृंसिंहदास व्यास, जिलाप्रमुख  प्रवेशकुमार सालवी, नगर परिषद के सभापति  सुरेश पालीवाल एवं विशिष्ट शासन सचिव(गृह) तथा अभियोजन निदेशक देवेन्द्र दीक्षित विशिष्ट अतिथि थे।
विधिवत लोकार्पण


गृह मंत्री कटारिया ने उच्च शिक्षा मंत्री श्रीमती किरण माहेश्वरी एवं अन्य अतिथियों की मौजूदगी में फीता काट कर भवन का उद्घाटन किया तथा लोकार्पण पट्टिका का अनावरण करने के उपरान्त सभी कक्षोें का अवलोकन किया व बेहतरीन भवन निर्माण कार्य की सराहना की।
अभियोजन पंजिकाएं प्रदान की


इस अवसर पर आयोजित समारोह में गृह मंत्री गुलाबचन्द कटारिया एवं उच्च शिक्षा मंत्री श्रीमती किरण माहेश्वरी ने अभियोजन के उप निदेशक राकेश मित्तल एवं सहायक निदेशक ओमप्रकाश मेहता को दैनिक अभियोजन कार्यवाही के रजिस्टर प्रदान किए।
अभियोजन क्षेत्र को मिलेगा पैरवी का अनुकूल माहौल
गृह मंत्री ने न्याय प्रक्रिया में अभियोजन क्षेत्र की अहम् भूमिका को रेखांकित किया और कहा कि अभियोजन से जुड़ी गतिविधियों और सुविधाओं की दृष्टि से प्रदेश के पन्द्रह जिलों में अभियोजन भवन हैं तथा प्रयास यह किया जा रहा है कि सभी जिलों में इनकी उपलब्धता हो जाए ताकि अभियोजन से संबंधित पैरवी करने वालों को अनुकूल वातावरण सुलभ हो।
जन प्रतिनिधियों से सहयोग का आह्वान


गृह मंत्री ने कहा कि उनका प्रयास है कि राजस्थान में उपखण्ड क्षेत्र और छोटे न्यायालय वाले क्षेत्रों तक में वहां की आवश्यकता के अनुरूप अभियोजन भवन की सुविधा उपलब्ध हो। इसके लिए उन्होंने भूमि की उपलब्धता के साथ ही स्थानीय जन प्रतिनिधियों की ओर से वित्तीय योगदान प्राप्त किए जाने को भी जरूरी बताया और कहा कि वे यह प्रयास कर रहे हैं कि एक-एक विधायक यदि 10-10 लाख का सहयोेग करे ताकि इसमें आसानी हो सके।
डूंगरपुर व बारां में बनेेंगे अभियोजन भवन
गृह मंत्री ने बताया कि इस वर्ष प्रदेश के बारां एवं डूंगरपुर जिले में अभियोजन भवन का निर्माण प्रस्तावित है। सरकार का पक्का प्रयास है कि शेष रहे सभी जिलों में जहां भूमि उपलब्ध होगी, वहाँ अभियोजन भवन बना दिए जाएंगे।
उन्होंने अपराधियों को सजा दिलाने की चर्चा करते हुए कहा कि राजस्थान देश में इस मामले में पांचवे स्थान पर है जहां सजा का प्रतिशत 68 फीसदी है। इस कार्य में अभियोजन से जुड़े लोगों की भूमिका अहम् है।
किरण माहेश्वरी का आग्रह माना
गृह मंत्री ने उच्च शिक्षा मंत्री श्रीमती किरण माहेश्वरी द्वारा किए गए आग्रह की चर्चा करते हुए राजसमन्द जिला जेल के लिए उपयुक्त क्षमता वाला भवन बनाने के लिए सिद्धान्ततः सहमति जाहिर करते हुए कहा कि आगामी डेढ़ वर्ष में यह कार्य करा दिया जाएगा। इसके लिए उन्होंने नगर परिषद से आगे आने को कहा। इसके साथ ही हाउसिंग बोर्ड में पुलिस चौकी बनाने के लिए श्रीमती माहेश्वरी द्वारा विधायक मद में 10 लाख की स्वीकृति की भी जानकारी दी व कहा कि वहां जल्द ही भवन बनाया जाएगा।
राजसमन्द ने पायी विकास की तेज रफ्तार


तकनीकि एवं उच्च शिक्षा मंत्री श्रीमती किरण माहेश्वरी ने अपने उद्बोधन में राजसमन्द के समग्र विकास की चर्चा की और कहा कि जिले में तरक्की के नए आयाम स्थापित हो रहे हैं और लोक सुविधाओं में बढ़ोतरी का सुकून मिला है लेकिन जिला मुख्यालय के लिए जरूरी संसाधन, कार्यालय और विकास गतिविधियों की दृष्टि से अभी बहुत अधिक प्रयासों की जरूरत है। उन्होंने कहा कि सरकार प्रदेश के समग्र विकास के लिए भरसक प्रयास कर रही है।
स्थानीय जरूरतों पर उच्च शिक्षा मंत्री ने दिया बल
उच्च शिक्षा मंत्री ने राजसमन्द जेल के लिए सवाईमाधोपुर जेल की तर्ज पर नवीन भवन व आदर्श जेल बनाने, महिला थाना पृथक से स्थापित करने और हाउसिंग बोर्ड में पुलिस चौकी स्थापित करने की आवश्यकता जताई और कहा कि राजसमन्द में भूमि की कोई कमी नहीं है इसलिए सुव्यवस्थित एवं विस्तारशील विकास की व्यापक संभावनाओं को मूर्त रूप दिया जा सकता है।
बेहतर न्याय के लिए हों प्रयास


क्षेत्रीय सांसद हरिओमसिंह राठौड़ ने समारोह में अपने उद्गार व्यक्त करते हुए कम समय में बेहतर भवन निर्माण के लिए सार्वजनिक निर्माण विभाग की सराहना की और न्याय के प्रति सजगता लाने की दिशा मेें इस भवन को गृह मंत्री एवं प्रदेश सरकार की राजसमन्द जिले को सौगात बताया।
उन्होंने न्याय प्रक्रिया को प्रभावशाली बनाने के लिए पुलिस अन्वेषण से जुड़ी प्रक्रियाओं के दौरान भी न्याय क्षेत्र की सक्रिय भूमिका सुनिश्चित करने पर जोर दिया और कहा कि इससे न्याय व्यवस्था को सम्बल प्राप्त होगा।
राज्य सरकार की सराहना
समारोह को संबोधित करते हुए जिला एवं सत्र न्यायाधीश नृसिंहदास व्यास ने अपनी 28 वर्षीय न्यायिक सेवाओं के अनुभवों का निष्कर्ष रखते हुए कहा कि राजस्थान की लोकप्रिय सरकार ने अभियोजन सेवाओं की सुख-सुविधाओं के लिए जो ठोस एवं सार्थक प्रयास किए गए हैं वे सराहनीय हैं।
लोक अदालत का लाभ दिलाएं
न्यायाधीश व्यास ने अदालतों में बढ़ते जा रहे मुकदमों के अम्बार को कम करने के लिए जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के प्रयासों की जानकारी दी और अधिवक्ताओं से इसका पूरा-पूरा फायदा लोगों को दिलाने के लिए अहम् भूमिका निभाने का आह्वान किया।
अभियोजन सुविधाओं में अग्रणी उपलब्धियां
स्वागत भाषण प्रस्तुत करते हुए विशिष्ट शासन सचिव(गृह) तथा अभियोजन निदेशक देवेन्द्र दीक्षित ने पुलिस, न्यायपालिका एवं अभियोजन के संबंधों पर प्रकाश डाला और कहा कि गृह मंत्री की पहल पर प्रदेश में अभियोजन क्षेत्र आज बेहतर मुकाम पा चुका है और तीन वर्ष में प्रशंसनीय कार्य हुए हैंं।
आरंभ में अभियोजन निदेशक देवेन्द्र दीक्षित, उप निदेशक राकेश मित्तल, सहायक निदेशक ओमप्रकाश मेहता, अभियोजन अधिकारी अरविन्द लक्षकार,  राजेश अग्रवाल आदि ने अतिथियों को पुष्पगुच्छ, उपरणा, पगड़ी, शॉल एवं उपरणा पहना कर अतिथियों का स्वागत किया।
समारोह का संचालन शिक्षाविद् एवं साहित्यकार दिनेश श्रीमाली ने किया जबकि आभार प्रदर्शन सहायक निदेशक (लोक अभियोजन)  ओमप्रकाश मेहता ने किया।
समारोह में अतिरिक्त जिला कलक्टर  बृजमोहन बैरवा, मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट  विक्रमसिंह, उपखण्ड अधिकारी राजेन्द्रप्रसाद अग्रवाल, समाजसेवी भंवरलाल शर्मा, बार एसोसिएशन के पदाधिकारी एवं अधिवक्तागण, न्यायालयकर्मी, अधिकारीगण, जन प्रतिनिधिगण, गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।
समारोह में पहुंचने से पूर्व गृह मंत्री गुलाबचन्द कटारिया को गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया।

Read more »

मुख्यमंत्री राजे ने किए प्रभु श्रीनाथजी के दर्शन ~ डॉ जोशी की माता के निधन पर संवेदना व्यक्त की

By |


नाथद्वारा। मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे सिंधिया शुक्रवार 11 बजकर 20 मिनिट पर उदयपुर से नाथद्वारा पहुंची। उन्होंने प्रभु श्रीनाथजी के राजभोग की झाँकी के दर्शन कर प्रदेश सहित देश में खुशहाली की कामना की। इस दौरान उच्च शिक्षा मंत्री श्रीमती किरण माहेश्वरी, राजसमन्द सांसद हरिओमसिंह राठौड़ एवं उदयपुर सांसद अर्जुनलाल मीणा, मगरा विकास बोर्ड अध्यक्ष  हरिसिंह रावत,नाथद्वारा विधायक कल्याणसिंह चौहान एवं सुरेन्द्रसिंह राठौड़, जिलाप्रमुख प्रवेश कुमार सालवी आदि ने भी प्रभु श्रीनाथजी के दर्शन किए।
मंदिर के अधिकारी सुधाकर शास्त्री ने परंपरानुसार समाधान किया। मुख्यमंत्री को मंदिर की ओर से तस्वीर, रजाई, उपरणा, पान का बीड़ा, प्रसाद और तुलसी प्रसाद भेंट किया गया।

इस दौरान संभागीय आयुक्त भवानीसिंह देथा, पुलिस महानिरीक्षक आनंद श्रीवास्तव, अतिरिक्त जिला कलक्टर बृजमोहन बैरवा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हर्ष रतनू, नाथद्वारा की उपखण्ड अधिकारी निशा अग्रवाल, मन्दिर मण्डल के मुख्य निष्पादन अधिकारी दिनेश कोठारी, सम्पदा अधिकारी  आचार्य सहित अनेक अधिकारीगण, क्षेत्र के जन प्रतिनिधिगण और गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।


दर्शन के उपरांत मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव डॉ सीपी जोशी के घर जाकर श्रीमती सुशीला देवी की तस्वीर के सम्मुख नमन किया और पुष्पान्जलि अर्पित कर भावभीनी श्रद्धान्जलि दी। मुख्यमंत्री करीब आधा घण्टा डॉ. सीपी जोशी के घर रुकी तथा परिजनों से चर्चा करते हुए ढाढस बंधाया।  डॉ. जोशी की माताजी श्रीमती सुशीला देवी का कुछ दिन पूर्व निधन हो गया था।

मुख्यमंत्री ने गुंजोल हेलीपेड़ पर की जन प्रतिनिधियों एवं अधिकारियों से चर्चा

मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे के नाथद्वारा पहुंचने पर अधिकारियों एवं जन प्रतिनिधियों ने अगवानी की। गुंजोल हेलीपेड़ से हेलीकॉप्टर द्वारा उदयपुर प्रस्थान करने से पूर्व मुख्यमंत्री ने उच्च शिक्षा मंत्री श्रीमती किरण माहेश्वरी, क्षेत्रीय सांसद हरिओमसिंह राठौड़, विधायकों तथा अधिकारियों से क्षेत्रीय विकास व सम सामयिक हालातों के बारे में फीडबेक लिया और संक्षिप्त चर्चा की।

मुख्यमंत्री का जोश खरोश से स्वागत

मुख्यमंत्री श्रीमती राजे शुक्रवार को दोपहर 11.20 बजे नाथद्वारा के समीप गुंजोल हेलीपेड़ पहुंची जहाँ उच्च शिक्षा मंत्री श्रीमती किरण माहेश्वरी, सांसद हरीओम  सिंह राठौड़, मगरा विकास बोर्ड के अध्यक्ष हरिसिंह रावत, नाथद्वारा विधायक कल्याणसिंह चौहान, कुंभलगढ़ विधायक सुरेन्द्रसिंह राठौड़, जिलाप्रमुख श्री प्रवेशकुमार सालवी, जिला कलक्टर श्रीमती अर्चनासिंह, जिला पुलिस अधीक्षक डॉ. विष्णुकान्त, राजसमन्द नगर परिषद सभापति सुरेश पालीवाल एवं उपाध्यक्ष अर्जुन मेवाड़ा, नाथद्वारा नगरपालिकाध्यक्ष लालजी मीणा, समाजसेवी भंवरलाल शर्मा रेलमगरा प्रधान प्रभुलाल भील आदि ने पुष्पगुच्छ भेंट कर मुख्यमंत्री की अगवानी व स्वागत किया। मुख्यमंत्री के स्वागत में नाथद्वारा शहर उमड़ आया। शहरवासियों ने हाथ हिलाकर मुख्यमंत्री का स्वागत किया।

मुख्यमंत्री को नाथद्वारा से दी विदाई

मुख्यमंत्री नाथद्वारा में करीब सवा घण्टा रुकने के बाद गुंजोल हेलीपेड से उदयपुर के लिए प्रस्थान कर गई। हेलीपेड पर उच्च शिक्षा मंत्री श्रीमती किरण माहेश्वरी, सांसद हरिओमसिंह राठौड़, मगरा विकास बोर्ड के अध्यक्ष हरिसिंह रावत, नाथद्वारा विधायक कल्याणसिंह चौहान, कुंभलगढ़ विधायक सुरेन्द्रसिंह राठौड़, जिलाप्रमुख प्रवेश सालवी, संभागीय आयुक्त भवानीसिंह देथा, पुलिस महानिरीक्षक आनंद श्रीवास्तव, जिला कलक्टर श्रीमती अर्चनासिंह, जिला पुलिस अधीक्षक डॉ. विष्णुकान्त, राजसमन्द नगर परिषद सभापति सुरेश पालीवाल एवं उपाध्यक्ष अर्जुन मेवाड़ा, नाथद्वारा नगरपालिकाध्यक्ष लालजी मीणा एवं उपाध्यक्ष परेश सोनी, समाजसेवी भंवरलाल शर्मा रेलमगरा प्रधान प्रभुलाल भील आदि ने विदाई दी।

 

Read more »

पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ. सी पी जोशी की माताजी का निधन – मुख्यमंत्री ने दी संवेदना – अंतिम यात्रा में पहुंचे गृहमंत्री सहित कई नेता

By |

 

नाथद्वारा। पूर्व केंद्रीय मंत्री व कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव डॉ. सीपी जोशी की माताजी श्रीमती सुशीला देवी धर्म पत्नी स्व. श्री भूदेव जोशी का 96 वर्ष की उम्र में रविवार को दोपहर बागरवाड़ा स्थित पैतृक निवास में निधन हो गया। वे कुछ दिनों से अस्वस्थ थी। डॉ जोशी गत दिनों करीब सप्ताह भर से माताजी की सेवा में थे । सोमवार प्रातः सुशीला देवी के अंतिम दर्शनों व अंतिम संस्कार यात्रा में नगरवासियों सहित दूरदराज की भारी भीड़ उमड़ी। जोशी के बड़े भाई शिव प्रकाश (भीष्म) जोशी ने चिता को मुखाग्नि दी।

प्रदेश की मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने पूर्व केन्द्रीय मंत्री डॉ. सीपी जोशी की माताजी श्रीमती सुशीला देवी के निधन पर शोक व्यक्त किया है। श्रीमती राजे ने अपने संवेदना संदेश में कहा कि स्व. सुशीला देवी अपने लगभग 100 वर्ष के लम्बे जीवन में सामाजिक कार्यां में हमेशा अग्रणी रहीं। श्रीमती राजे ने दिवंगत की आत्मा की शांति और परिजनों को यह दुख सहन करने की शक्ति प्रदान करने के लिये परमपिता परमेश्वर से प्रार्थना की है।

डॉ.जोशी की माताजी के अंतिम संस्कार में प्रदेश के गृहमंत्री गुलाचबंद कटारिया, सांसद हरिओम सिंह राठौड़, विधायक कल्याण सिंह चौहान, प्रदेश कांग्रेस सचिव वैभव गहलोत, पूर्व केन्द्रीय मंत्री अखिलेश प्रसाद, पूर्व केन्द्रीय मंत्री लालचंद कटारिया, पूर्व प्रदेश गृहमंत्री शांति धारीवाल, पूर्व देवस्थान मंत्री शिवदान सिंह चौहान, देवाराम परमार, बाबूलाल नागर, अशोक बैरवा, सुशील शर्मा, मांगीलाल गरासिया,लाल सिंह झाला,रघु शर्मा,देवकीनंदन गुर्जर,शांति लाल चौधरी,डॉ. जुगल छापरवाल,प्रकाश पालीवाल, केसर सिंह चौहान,मांगीलाल पालीवाल,कैलाश त्रिवेदी,वीरेंद्र वैष्णव,प्रदीप पालीवाल,पुरुषोत्तम माली सहित अनेक पदाधिकारी, कार्यकर्त्ता व प्रदेशवासी शामिल हुए। राजसमन्द टाइम्स परिवार की ओर से हार्दिक श्रद्धांजलि एवं माताजी को शत शत नमन।

Read more »