खमनोर नाथद्वारा रोड़ पर गुजरते ट्रोलों से दुर्घटना का अंदेशा – बस स्टैंड के हालात गंभीर 

Feed Doesn't exists




खमनोर। बस स्टैंड प्रताप तिराहे सहित गांव के मुख्य मार्ग पर फैलती गन्दगी व लचर यातायात प्रबंधन से महाराणा प्रताप की रणभूमि हल्दीघाटी रक्त तलाई देखने आने वाले पर्यटक परेशान है। ग्राम पंचायत बस स्टैंड के सौंदर्यीकरण को चाह कर भी करा पाने में स्थानीय चंद अड़ंगेबाजो के चलते नाकाम रही है। आवारा पशुओं से फल सब्जी विक्रेता परेशान है वही चाय नाश्ता, ज्यूस बेचने वालों द्वारा सारी गन्दगी रात को सड़क पर डालने से जनता परेशान है। पशु यहाँ वह डाली गई गंदगी को खाकर अकाल काल का ग्रास बन रहे इस बात को भी नाकारा नहीं जा सकता है ।
टोल बचाने के चक्कर में गुजरने वाले ट्रोलों की वजह से यहां आये दिन लगने वाले जाम से दुर्घटना का भी अंदेशा है। बेतरतीब खड़े रहने वाले वाहनों से पैदल चलने वाला राहगीर परेशान हैं । स्टाफ की कमी से जूझते पुलिस विभाग की हालत तो यह है कि ट्रैफिक व्यवस्था केवल किसी वीआईपी के हल्दीघाटी आगमन पर ही यातायात व्यवस्था को चौबंद रख पाती है।
जनप्रतिनिधियों के साथ सौन्दर्यीकरण व यातायात व्यवस्था सुव्यवस्थित करने के लिए पूर्व में आयोजित कई बैठकों के आज दिन तक कोई परिणाम नजर नहीं आ रहे है।  बस स्टैंड पर बेतरतीब खड़े वाहन, बढ़ते स्थायी अस्थायी ठेले केबिन यहाँ प्रतीक्षारत राहगीरों को बैठने के लिए बनाये गये विश्राम घर को ही लुप्त कर चुके है।
ज्ञात रहे कि पूर्व में बस स्टैंड प्रताप तिराहे के इर्दगिर्द लगे केबिन धारकों को पंचायत द्वारा कियोस्क लगा कर व्यवस्थित कराने की योजना बनाई गई थी। स्थानीय अवसरवादी कंटकों द्वारा नाहक विरोध कर उसे लटका दिया गया था। वर्तमान में  यात्री प्रतीक्षालय पर शॉपिंग काम्प्लेक्स बनाने की घोषणाएं भी थोथी साबित हो रही हैं । पंचायत आज तक कोई ठोस विकास बस स्टैंड पर नहीं करा पाई है। कड़ी से कड़ी जुडी होने के बाद भी गांव में कांग्रेस की पंचायत होने से समस्या जस की तस है। महाराणा प्रताप की रणभूमि खमनोर हल्दीघाटी में जयंती व युद्धतिथि ( मई जून ) के अवसर पर मेले का भी आयोजन होना है देखना होगा कि प्रशासन धरोहर स्थलों की कितनी सुध लेता है।
इनका कहना है :- 
हमारा प्रयास है कि यात्री प्रतिक्षालय सहित बस स्टैंड का विकास शीघ्र हो ।कुछ अवसरवादी तत्वों द्वारा विकास कार्यो में बाधा पहुँचाने का प्रयास किया जाता रहा है। यातायात व्यवस्था हेतु दुपहिया वाहनों की पार्किंग हेतु पीली लाईन पुलिस प्रशासन की मदद से करवाई जाएगी।पंचायत स्तर पर ट्रेक्टर द्वारा प्रतिदिन गंदगी हटा कर सफाई करायी जाती है । आवारा पशु कहलाने वाले पशु के पालकों को चिन्हित कर सडकों पर नहीं  छोड़ने बाबत सूचित किया जायेगा ।
श्रीमती ममता वीरवाल – सरपंच ,ग्राम पंचायत खमनोर।
—-
बस स्टैंड पर बस खड़ी करने की भी कोई जगह आज तक सुनिश्चित नहीं हो पाई है। दुकानों के आगे बस खड़ी की जाती है। वैवाहिक अवसरों पर तो हालात और भी गंभीर हो जाते है। प्रशासन को इसकी सुध लेकर तहसील मुख्यालय पर विधिवत बस स्टैंड का निर्माण करना चाहिए।
रामचंद्र पालीवाल- अध्यक्ष-
महाराणा प्रताप एकीकृत व्यापार मंडल ,खमनोर ।
__
भारत के प्रथम स्वतंत्रता सेनानी वीर प्रताप की रणधारा राष्ट्रीय स्मारक से रक्त तलाई तक पर्यटकों की  सुलभ सुरक्षित पहुंच के प्रयास सरकार की प्रथम प्राथमिकता होना चहिये । कूट राजनीति के चलते क्षेत्र आज भी उपेक्षित है । ग्रामीण क्षेत्र में सुरक्षित यातायात,पूर्ण स्वच्छता, साफ सुथरी सड़क, पर्यटन विकास  सहित कई विषय आज भी अछूते है ।
कमल मानव
सामाजिक कार्यकर्त्ता , हल्दीघाटी पर्यटन समिति






Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *