बच्चों से सहज होकर वार्ता करें पुलिसकर्मी – बिनुजीत

राजनगर, कांकरोली, खमनोर तथा देलवाड़ा थानों पर हुआ आमुखीकरण कार्यक्रम
बाल संरक्षण के विभिन्न पहलुओं पर दिया गया प्रशिक्षण

राजसमंद।उदयपुर रेंज में बाल संरक्षण को सुनिश्चित करने के लिए पुलिस विभाग द्वारा संचालित किए जा रहे सुरक्षित विद्यालय एवं किशोर सशक्तिकरण कार्यक्रम के अन्र्तगत राजसमन्द जिले के राजनगर, कांकरोली, खमनोर एवं देलवाड़ा पुलिस थानों में थाना स्तरीय प्रशिक्षण एवं आमुखीकरण कार्यक्रम आयोजित हुआ। बीट कान्स्टेबलों को विद्यालयों में सुरक्षित वातावरण के निर्माण तथा बाल सरंक्षण संबंधित विधिक जानकारी के लिए इस तरह का प्रशिक्षण उपलब्ध कराया जा रहा है।

मानव तस्करी विरोधी प्रकोष्ठ राजसंमद की टीम तथा युनिसेफ की बाल संरक्षण सलाहकार सिन्धु बिनुजीत द्वारा इन सभी पुलिस थानों में प्रशिक्षण दिया गया।

प्रशिक्षण में सिन्धु बिनुजीत ने बीट क्षेत्रों में चयनित किए गए विद्यालयों में बाल संरक्षण को सुनिश्चित करने के लिए विभिन्न प्रक्रियाओं तथा संवेदनशील व्यवहार के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि बीट कान्स्टेबलों द्वारा अपने बीट क्षेत्र में भ्रमण के दौरान बच्चों से संवेदनशीलता तथा मित्रवत् वार्ता करनी चाहिए जिससे वे अपनी समस्याओं को बेझिझक खुलकर बता सकें।

उन्होनें पुलिस थानों पर कान्स्टेबलों को नियमित विद्यालयों में भ्रमण करने तथा थाने पर आने वाले बच्चों के साथ किशोर न्याय अधिनियम 2015 के अनुसार व्यवहार करने संबंधित जानकारी दी।

प्रशिक्षण कार्यक्रम में बीट कान्स्टेबलों को वितरित की गई प्रचार सामग्री के उपयोग के बारे में भी जानकारी भी दी गई तथा बच्चों की सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए उपयोग करने दिशा-निर्देश दिए।

इन प्रशिक्षणों के दौरान बीट कान्स्टेबलों ने भी अपने-अपने अनुभवों को साझा करते हुए टीम को महत्वपूर्ण सुझाव दिए। मानव तस्करी विरोधी प्रकोष्ठ के देवेन्द्र सिंह ने सभी बीट कान्स्टेबलों को संबंधित स्कूलों में चाइल्ड हेल्प लाईन, पुलिस कन्ट्रोल रूम, बाल अधिकार संरक्षण आयोग तथा स्वयं के नम्बर चस्पा कराने के निर्देश दिए।

मानव तस्करी विरोधी प्रकोष्ठ ने दी जानकारी

जिला स्तरीय मानव तस्करी विरोधी प्रकोष्ठ के प्रभारी देवेन्द्र सिंह ने पुलिस कर्मियों को गुमशुदा बच्चों की रिपोर्टिंग तथा बच्चों हेतु बनाए गए विशेष अधिनियमों की जानकारी दी।

चाईल्ड हेल्प लाईन के बारे में बताया

जिले में जतन संस्थान के सहयोग से संचालित चाईल्ड हेल्प लाईन के बारे में पुलिस कान्स्टेबलों को चाईल्ड लाईन के संजय राव तथा मोहम्मद असलम द्वारा जानकारी दी गई। प्रशिक्षण में चाईल्ड लाईन की टीम द्वारा जागरूकता के लिए पुलिस कर्मियों को चाईल्ड हेल्प लाईन के बारे में बच्चों को अधिक से अधिक जानकारी देने के लिए प्रोत्साहित किया गया।

डायन प्रथा पर प्रशिक्षण

जिले में महिला सुरक्षा एवं सलाह केन्द्र द्वारा डायन प्रथा से संबंधित अधिनियमों तथा प्रतिकरों के बारे में जानकारी उपलब्ध कराई गई।

प्रशिक्षण में राजनगर पुलिस थाने पर बाल कल्याण अधिकारी राम सिंह, खमनौर थाने पर थानाधिकारी पेशावर खान व बाल कल्याण अधिकारी शंकर सिंह, कांकरोली थाने पर थानाधिकारी गोविन्द सिंह व बाल कल्याण अधिकारी मानसिंह, देलवाडा थाने पर थानाधिकारी माधव सिंह तथा बाल कल्याण अधिकारी कोदरलाल, महिला सुरक्षा एवं सलाहकार केन्द्र की प्रेक्षा जैन, संगीता चौधरी, चाईल्ड लाईन से मोहम्मद असलम, संजय राव तथा टीम के आकाश उपाध्याय आदि ने बाल संरक्षण गतिविधियों को और अधिक प्रभावी बनाने के लिए महत्वपूर्ण सुझाव दिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.