खमनोर पंचायत समिति क्षेत्र में पांच दिवसीय प्रताप मेले का आगाज 26 मई को मचिंद में

हल्दीघाटी का त्रिदिवसीय प्रताप जयंती मेला 28 मई से शाहीबाग में 
खमनोर। वीर शिरोमणि,प्रातःस्मरणीय महाराणा प्रताप की 477 वीं जन्म जयंती के अवसर पर  प्रतिवर्ष की भांति प्रताप जयंती का मेला शाहीबाग हल्दीघाटी में 28 मई से व मचिंद में मेला 26 व 27 को आयोजित होगा।  मेले के सफल आयोजन एवं आवश्यक गतिविधियों पर चर्चा हेतु सोमवार दोपहर एक आवश्यक बैठक दलजीतसिह चुण्डावत उपप्रधान की अध्यक्षता में आहूत की गई।
विकास अधिकारी वीरेंद्र कुमार जैन ने सदन को पूर्व में 9 मई को आयोजित बैठक की जानकारी देते हुए बताया गया कि प्रताप जयंती के मेले की पंचायत समिति स्तर पर कमेटियों का गठन किया जाकर कार्य बाँट दिए गए है । जयंती को भव्य बनाने के लिए जनभागीदारी की महति आवश्यकता को ध्यान में रख यह बैठक आयोजित की गई है।
तीन दिवसीय मेले के आयोजन के कार्यक्रमों रूपरेखा से उपस्थित जनप्रतिनिधियों , अधिकारियों एवं सामाजिक संगठनों को अवगत कराया गया जिसमें विभागीय अधिकारियो एवं सामाजिक संगठनों द्वारा अपने सुझावों को बैठक के दौरान रखा गया।
इस वर्ष सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा तीनों दिन सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये जायेंगे।
प्रथम दिवस 28 मई को प्रातः साढ़े सात बजे शोभायात्रा का आयोजन जय हल्दीघाटी नवयुवक मण्डल द्वारा किया जायेगा। शोभायात्रा में इस वर्ष अश्व बीमारियों के चलते शामिल नहीं किये जायेंगे। उक्त शोभायात्रा का प्रस्थान रक्ततलाई प्रांगण से मेला स्थल तक किया जावेगा ,शोभायात्रा के दौरान कलश यात्रा के साथ स्वच्छता संदेश प्रदान करने हेतु वाहन रैली का आयोजन किया जायेगा।  प्रातः दस बजे उदघाटन समारोह शाहीबाग में होकर रात्रिकालीन सांस्कृतिक संध्या का आयोजन होगा।
मेले के दूसरे दिन प्रातः 9 बजे खेलकूद प्रतियोगिताओं का आयोजन होकर सांयकाल 4 बजे से तीरदांजी ,पहाड चढाई ,रस्साकस्सी (पुरूष/महिला) ,रूमाल झपट्टा ,मटकी रेस व रात्रिकालीन सांस्कृतिक संध्या का आयोजन होगा।  मेले के अंतिम दिन प्रातः 9 बजे से खेलकूद प्रतियोगिताओं का आयोजन होगा। सांयकाल 6 बजे मेले का ध्वज उतारा जाकर  समापन रात्रिकालीन सांस्कृतिक संध्या  के साथ ही आयोजन किया जायेगा ।
हल्दीघाटी युद्धतिथि 18 जून को प्रातः रक्त तलाई स्थित शहीद स्मारकों एवं चेतक समाधी में पर पुष्पांजलि  अर्पित की जायेगी। सायंकाल हल्दीघाटी पर्यटन समिति एवं पंचायत समिति द्वारा वीरता दिवस के रूप में आयोजित दीपांजलि महोत्सव में बलिदानी माटी पर शहीदों के सम्मान में मिटटी के दीपक जलाये जायेंगे। दोपहर में मृण कला प्रदर्शनी का आयोजन होगा।
जिले में घोड़ो व गधों में फ़ैल रही बीमारी की जानकारी देते हुए पशु चिकित्सक ड़ॉ कुलदीप कौशिक ने बताया कि राजसमन्द व उदयपुर के घोड़ों में ग्लैण्डर्स नामक बीमारी फैलने की वजह से घोड़ों व गधों को भीड़भाड़ वाले क्षेत्र से दूर रखने के आदेश राज भवन से प्राप्त हुए है। राजसमन्द में दो घोड़ो को इस बीमारी से ग्रसित पाये जाने पर आवश्यक मृत्यु दी गई है। राज्यपाल के आदेश की प्रतिलिपि से सदन को अवगत कराया गया।
मेले की कार्ययोजना बैठक के दौरान तैयार की जाकर उपस्थित विभाग व सामाजिक संगठनों से चर्चा उपरान्त सधन्यवाद बैठक समाप्त की गई।
 
बैठक में जिला परिषद सदस्या श्रीमती कृष्णा सोनी,पंचायत समिति सदस्य अशोक वैष्णव,जय हल्दीघाटी नवयुवक मंडल अध्यक्ष चेतन पालीवाल,पूर्व अध्यक्ष श्याम लाल पंवार, भाजपा ग्रामीण मंडल अध्यक्ष नवनीत पालीवाल, राणा पूंजा आदिवासी युवा जागृति संस्थान अध्यक्ष मोहन गमेती,नमाना सरपंच नानू राम,सेमा सरपंच मनु गायरी,सरपंच नारायण पालीवाल, मचींद पूर्व सरपंच  तुलसीदास गुर्जर , रमेश दवे बड़ा भाणुजा ,वार्ड पंच विनोद पालीवाल, ब्लॉक चिकित्सा अधिकारी डॉ. जे.पी.बुनकर, ब्लॉक शिक्षा अधिकारी अम्बा लाल खटीक,अतिरिक्त ब्लॉक शिक्षा अधिकारी भवानीशंकर पालीवाल, सहायक अभियंता फतहलाल सोनी, विद्युत विभाग सहायक अभियंता सत्यनारायण सांचोरा, कनिष्ठ अभियंता गिरिराज मीणा,

ए एस आई शंकर सिंह ,सचिव जितेंद्र तिवारी,सचिव ओम प्रकाश मीणा आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *