घर में घुसकर महिला के साथ लूट की घटना का पर्दाफाश – दो आरोपी गिरफ्तार


खमनोर। गांवगुडा में गत दिनों घर में मेहमान बन कर दिनदहाड़े वृद्धा के साथ मारपीट कर हुई लूट के आरोप में खमनोर पुलिस ने दो शातिर अपराधियों को गिरफ्तार कर लूट का पर्दाफाश करने में सफलता हासिल की है।

ज्ञात रहे कि 18 जनवरी 2018 को सुबह 8.00 बजे के करीब गांवगुडा स्थित अपने मकान में अकेली रह रही वृद्धा श्रीमति धुली बाई पत्नि श्री वृद्धिचन्द जी सिंघवी के साथ उसके मकान में मेहमान बनकर आये अपराधियों ने मारपीट कर घायल करते हुए सोने चांदी के जेवरात चुरा लिए थे।
जिला पुलिस अधीक्षक राजसमन्द श्री मनोज कुमार ने घटना की गम्भीरता देखते हुये श्री मनीष त्रिपाठी अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजसमन्द एवं श्री कान सिंह भाटी वृत्ताधिकारी वृत नाथद्वारा के नेतृत्व में एक टीम का गठन कर यथाशीघ्र बदमाशों की तलाश कर गिरफ्तार करने के निर्देश दिये। टीम ने गहन पड़ताल व मेहनत कर इस प्रकरण को सुलझाने में सफलता प्राप्त कर अभियुक्तगण कमलेश कुमार पिता मोहन लाल नाई निवासी गांव गुडा एवं सुरेश कुमार पिता मांगीलाल नाई निवासी परावल थाना खमनोर जिला राजसमन्द को गिरफ्तार किया है। पुलिस का कहना है कि पूछताछ की जा रही है व अभियुक्तगणों को रिमाण्ड पर लिया जावेगा।
प्रकरण को सुलझाने हेतु बनाई गई टीम में श्री पेशावर खान थानाधिकारी खमनोर , शंकर सिंह स0उ0नि0 , हीरसिंह हैड कानि0, मोहित कुमार कानि0, शिवदर्शन सिंह राठौड़ कानि0 ,दारासिंह कानि0, मदनसिंह कानि0 विरेन्द्र सिंह कानि0, दिनेश कुमार आदि प्रमुख रहे।
घटनाक्रम की जानकारी देते हुए थानाधिकारी ने बताया कि गांवगुडा में करीब 200 मकान जैन समुदाय के है और इनमे 90 प्रतिशत लोग दक्षिणी भारत में व्यापार करते है। अभियुक्तगण इसी गांव के निवासी होकर प्रत्येक परिवार के लोगो को भलीभांति जानते थे इसलिए मेहमान बनकर पार्सल देने के बहाने पीड़िता के घर पर गये और वहां पर पीड़िता ने मेहमान समझ कर अभियुक्तों की आवभगत कर नाश्ता करवाया और चाय पिलायी इसी दौरान अभियुक्तगणों ने मौका पाकर वृद्धा श्रीमति धुलीबाई सिंघवी के सिर मे पत्थर से तीन चार वार किये और उसे घायल कर उसके पहने हुए जेवरात जिसमें सोने के मादलिये पांच, चुडियं सोने की तीन और दो अंगूठियां लुटने में सफल रहे।
अभियुक्त कमलेश कुमार का पूर्व में भी आपराधिक रेकार्ड रहा है और वह पहले कई बार जेल जा चुका है। इसके खिलाफ चोरी, मोटर साईकिल चोरी, शराब तस्करी के प्रकरण दर्ज हो न्यायालय में विचाराधीन है। कमलेश कुमार जो पूर्व में मुम्बई में नौकरी करता था व अपने मालिक की दुकान से करीब 25 किलो चांदी चुराई थी। जिस पर मुम्बई पुलिस द्वारा उसे गिरफ्तार किया गया था। अभियुक्त कमलेश कुमार घटनास्थल से महज 100 मीटर दूरी पर अपने पैतृक मकान में रहता है।उसका मकान व पीड़िता का मकान एक ही गली मोहल्ले स्थित है। घटना के एक दिन पहले दोनों बदमाशों ने वारदात को अंजाम देने से पूर्व रेकी की थी एवं दूसरे दिन मौका पाकर घटना को अंजाम दिया था। सुरेश कुमार एवं कमलेश नाई दोनो मामा भुआ के भाई है व उदयपुर रावजी का हाटा स्थित किराये के मकान में रहते है। कमलेश नाई पिछले 15,20 दिनों पूर्व ही पूना लोनावाला से आया था व सुरेश कुमार के साथ उदयपुर में ही रह रहा था। सुरेश कुमार की पिछोली उदयपुर में फ्रेन्डस हैयर कटिंग सैलुन की दुकान आर्य समाज मन्दिर के पास है। जिसको दोनों अभियुक्तगण संचालित करते है। दोनों अभियुक्तगणों को पैसो की काफी जरूरत थी। जिसके चलते इन्होने इस घटना को अंजाम देने का मानस बनाया और एक दिन पहले उदयपुर से बागोल आ गये।बागोल अपने रिश्तेदार के घर पर रात रूके और दूसरे दिन घटना को अंजाम देने में सफल रहे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.