हल्दीघाटी में महाराणा प्रताप जयन्ती पर तीन दिवसीय विशाल मेला शुरू – प्रताप से जुड़े ऎतिहासिक स्थलों का विकास किया जाएगा – विधानसभाध्यक्ष

खमनोर। वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप की 479 वीं जयन्ती पर खमनोर पंचायत समिति की ओर से हल्दी घाटी के शाही बाग में आयोजित तीन दिवसीय प्रताप जयन्ती मेला गुरुवार को समारोहपूर्वक शुरू हुआ।
शाही बाग में भव्य उद्घाटन समारोह राजस्थान विधानसभाध्यक्ष डॉ. सी.पी. जोशी के मुख्य आतिथ्य एवं सांसद दिया कुमारी की अध्यक्षता में हुआ। इसमें स्वतंत्रता सेनानी मदनमोहन सोमटिया एवं लीलाधर गुर्जर, जिला कलक्टर अरविन्द कुमार पोसवाल, जिला परिषद की मुख्य कार्यकारी अधिकारी निमिषा गुप्ता, नाथद्वारा की उपखण्ड अधिकारी निशा, समाजसेवी देवकीनंदन गुर्जर काका एवं वीरेन्द्र पुरोहित आदि विशिष्ट अतिथियों के रूप में उपस्थित थे। समारोह में पूर्व जिलाप्रमुख नंदलाल सिंघवी, समाजसेवी महेशप्रतापसिंह सहित क्षेत्र भर से ग्रामीण जन प्रतिनिधिगण, अधिकारीगण और राज्यकर्मी, गणमान्य नागरिक तथा बड़ी संख्या में स्त्री-पुरुष उपस्थित थे।


पुष्पान्जलि, दीप प्रज्वलन व ध्वजारोहण से शुरू हुआ मेला
राजस्थान विधानसभाध्यक्ष डॉ. सी.पी. जोशी एवं अन्य अतिथियोंं ने महाराणा प्रताप की मूर्ति के सम्मुख पुष्पान्जलि एवं दीप प्रज्वलन तथा मेला ध्वजारोहण कर तथा सांसद दिया कुमारी ने उद्घाटन घोषणा कर मेले का शुभारंभ किया। पुष्पांजलि के दौरान सभी उपस्थितजनों ने अपने स्थान पर खड़े होकर महाराणा प्रताप के आदर्शों को आत्मसात करते हुए समाज व राष्ट्र के विकास में समर्पित भागीदारी का संकल्प लिया। मेला प्रभारी लादूराम विश्नोई ने शोभायात्रा में ऎतिहासिक पात्रों की जीवन्त झांकी पेश करने वाले सभी कलाकारों को सम्मानित किया। जय हल्दीघाटी नवयुवक मण्डल के अध्यक्ष चेतन ने सभी पात्रों का परिचय कराया। मचीन्द से लाए गए कलश का अतिथियों ने पूजन किया।
प्रताप से संबंधित स्थलों का हरसंभव विकास होगा
समारोह के मुख्य अतिथि राजस्थान विधानसभाध्यक्ष डॉ. सी.पी. जोशी ने महाराणा प्रताप से संबंधित स्थलों के संरक्षण और विकास के लिए हरसंभव प्रयासों पर बल दिया और कहा कि इसके लिए सभी पहलुओं पर विचार कर स्थायी एवं ठोस कार्य अमल में लाए जाएंगे ताकि प्रताप जयन्ती पर मेले का भव्य आयोजन और अधिक बेहतरी से हो सके। इसके लिए मेला मैदान व मेला विकास के कारगर प्रयास सुनिश्चित किए जाएंगे।
डॉ. जोशी ने महाराणा प्रताप के जीवन और आदर्शों को आत्मसात करने का आह्वान किया और कहा कि देश की एकता, अखण्डता को मजबूती देने तथा दुनिया में भारतवर्ष का नाम रोशन करने के लिए प्राण-प्रण से सभी को मिलजुलकर प्रयास करने की आवश्यकता है। उन्होेंने बताया कि अब इस दिशा में ठोस एवं कारगर कार्य किया जाएगा।
प्रताप सर्किट बनाने की दिशा में हो पहल

समारोह में अध्यक्षीय उद्बोधन में राजसमन्द सांसद दिया कुमारी ने महाराणा प्रताप को दुनिया का गौरव बताया और कहा कि महाराणा प्रताप से जुड़े स्थलों को कालजयी ऎतिहासिक यादगार बनाने के लिए सभी संभव प्रयास किए जाएंगे। इसके लिए वे जनसेवक के रूप में केन्द्र सरकार के स्तर पर भी पूरी कोशिश करेंगी।
उन्होंने कहा कि प्रताप से संबंधित गौरवशाली इतिहास और गर्वीली गाथाओं से नई पीढ़ी को अवगत कराने के लिए कृष्णा सर्किट की तरह ही प्रताप सर्किट बनाने के लिए समन्वित प्रयासों की आवश्यकता है ताकि देश-दुनिया के लिए यह प्रेरणा जगाने के साथ ही पर्यटन केन्द्र के रूप में भी प्रसिद्ध हो सकें।
प्रताप के जीवनादर्शो को आत्मसात करें


जिला कलक्टर अरविन्द कुमार पोसवाल ने महाराणा प्रताप के आदर्शों को वर्तमान में प्रासंगिक बताया और नई पीढ़ी को उनके इतिहास व जीवन गाथाओं से परिचित कराने पर जोर दिया और कहा कि महाराणा प्रताप के समय बाहरी शक्तियों के साथ संघर्ष था लेकिन आज आन्तरिक विषमताओं के खतरे हमारे सामने हैं जिनका मुकाबला करने के लिए प्रताप के जीवनादर्शों को अपनाने की आवश्यकता है।
जिला कलक्टर ने कहा कि महाराणा प्रताप से संबंधित स्थलों के विकास के लिए जिला प्रशासन हरसंभव प्रयासों में जुटा हुआ है तथा इको ट्यूरिज्म के मद्देनज़र वन विभाग की टीम इस दिशा में काम कर रही है। शाहीबाग में प्रताप मेले के आयोजन की निःशुल्क सुविधा के बारे में एएसआई से बात की जाएगी।
मातृभूमि की सेवा और देशभक्ति के प्रति समर्पित रहें
समारोह में स्वतंत्रता सेनानी मदनमोहन सोमटिया, समाजसेवी देवकीनंदन काका एवं वीरेन्द्र पुरोहित ने अपने उद्बोधन में महाराणा प्रताप के जीवन वृत्त से प्रेरणा पाकर मातृभूमि की सेवा करने, देशभक्ति की भावनाओं के प्रसार तथा समाज और देश की तरक्की में समर्पित भाव से जुटने का आह्वान किया।


इन्होंने किया अतिथियों का स्वागत
आरंभ में अतिथियों का तिलक, पुष्पहार, उपरणा, पगड़ी एवं स्मृति चिह्न प्रदान कर स्वागत खमनोर पंचायत समिति की प्रधान श्रीमती शोभा पुरोहित, उप प्रधान दलजीतसिंह चुण्डावत, विकास अधिकारी लादूराम विश्नोई, पूर्व प्रधान पुरुषोत्तम माली, भैरूलाल वीरवाल, सोबसिंह, सेमा सरपंच मन्नू देवी गायरी, खमनोर उपसरपंच, पीईओ जगदीश जटिया आदि ने किया। समारोह का संचालन गोपाल माली एवं जमनालाल ने किया जबकि आभार प्रदर्शन प्रधान शोभा पुरोहित ने किया।



मनोहारी शोभायात्रा ने जगाया आकर्षण
इससे पूर्व रक्ततलाई से भव्य शोभायात्रा निकली जो शाहीबाग समारोह स्थल पहुंच कर सम्पन्न हुई। इसमें महाराणा प्रताप एवं उनके सहयोगियों की वेशभूषा में अदाकारों के प्रदर्शन ने खा़सा रंग जमाया। समारोह के उपरान्त अश्वों की नृत्य प्रतिस्पर्धा हुई। अतिथियों के समारोह स्थल पहुंचने पर गाजे-बाजे के साथ भव्य स्वागत एवं अगवानी की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.