भारत मे पहली बार राजसमंद मे 7-8 अक्टूबर को स्टोमिन एक्जिबिशन का आयोजन

स्टोमिन – 2017 :  मार्बल एवं ग्रेनाईट उद्योग की नई तकनीकों से होगा व्यापारियों का परिचय




राजसमंद। दिन-प्रतिदिन देश दूनिया में हो रहे तकनीकी बदलावों के साथ ही स्टोन इण्डस्ट्री में भी बहुत तेजी से तकनीकी बदलाव हो रहे है। इस तेजी से बदलती तकनीकी दूनिया का परिचय, ज्ञान तथा अपने उद्योग मे इसका समावेश आज के व्यापार सफलता की मुख्य कुंजी है। और इसी को लेकर भारत मे पहली बार 7 व 8 अक्टूबर को राजसमन्द मार्बल एवं ग्रेनाइट बाजार में ‘द मेवाड क्लब’ मे प्रथम बार ‘स्टोमिन 2017 एक्जिबिशन का आयोजन होने जा रहा है।
चाईना से बेहतर माल दे सकते है राजसमंद व्यापारी
स्टोमिन – 2017 के संयोजक मोहन बोहरा ने मंगलवार को आयोजित पत्रकार वार्ता में बताया कि आज राजसमन्द मार्बल एवं ग्रेनाइट बाजार पूरे देश में तो अपनी उपस्थिति दर्ज करा रहा है, लेकिन विदेशों में इसकी उपस्थिति कमजोर है। जिसके पीछे राजसमन्द में यह ‘आम सोच’ है कि यहां पर खनन होने वाले माल की विदेशों मे मांग नहीं है। यह सोच कई मायनों में सही भी है, लेकिन तेजी से बढ़ते हुए व्यापारिक वातावरण में इस विषय पर ऐसा भी सोचा जा सकता है कि अगर चाईना भारत से ब्लॉक क्रय करके अपने यहां प्रोसेसिंग करके पून: निर्यात कर सकता है, तो राजसमन्द के उद्योगपति भारत के अन्य स्थानों से निर्यात योग्य ब्लॉक्स को क्रय करके, अपने यहां प्रोसेसिंग करके, निर्यात या अच्छे दामों पर विक्रय क्यों नहीं कर सकते। इस सोच को अमली जामा पहनाने के लिए ‘स्टोमिन – 2017’ तकनीकी मेला बहुत ही सहयोगी एव उपयोगी सिद्ध होगा।




राजसमंद मे 2 दिन रहेगा उद्योगपतियों का जमावड़ा
लघु उद्योग भारती राजसमंद ईकाई के अध्यक्ष बाबुलाल कोठारी ने बताया कि भारत के कई शहरों व प्रदेशों के तकनीकी निर्माताओं व आयातकों का 7 व 8 अक्टूबर को ‘द मेवाड क्लब’ में जमावड़ा राजसमन्द के व्यापारियों को ही लाभान्वित नहीं करेगा बल्क् िइसके आसपास के बाजारों जैसे उदयपुर, चित्तोड़, देवगढ़, जालौर, आबूरोड व कई अन्य बाजारों के व्यापारियों को भी लाभान्वित करेगा।
नई तकनीकों का भी रहेगा लाईव डेमो
स्टोमिन के संयोजक सम्राट केमिकल इण्डस्ट्रीज के कॉ-पार्टनर किशोर सिधवानी ने बताया कि राजसमंद मे होने वाली स्टोमिन – 2017 फेयर का आगाज राजस्थान की स्टोन इण्डस्ट्रीज मे टेक्नोलॉजी के नये आयाम स्थापित करेगा। इस 2 दिन की एक्जिबिशन मे खास तौर से नवीन तकनीकों का प्रदर्शन और उनके बारे मे पूर्ण जानकारी सहित लाईव डेमों भी दिखाया जायेगा।
स्टोन गैलेरी होगी आकर्षण का केन्द्र
राजसमन्द गैंग-सॉ मार्बल एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष मदन चौधरी ने बताया कि राजसमन्द मार्बल व ग्रेनाइट बाजार व खनन के लिए विश्वप्रसिद्ध है तथा भारत में प्रथम पायेदान पर है व स्टोन इण्डस्ट्री में उपयोग होने वाली मशीनों, स्पेयर पार्टस, केमिकल्स, एब्रेसिव्स, सीएनसी मशीनों, गेंगसॉ मशीनों, ग्रेनाइट ब्लोक कटर्स, माईनिंग मशीनों व अन्य आधुनिक मशीनों की यहां पर भारी मांग है। इसी उद्ेश्य से आयोजको द्वारा स्टोमिन – 2017 को राजसमन्द में आयोजित करने का निर्णय लिया गया है। स्टोमिन मे आने वाले दर्शको को यहां खास तौर से स्टोन गैलेरी भी देखने को मिलेगी जिसमे कई आकर्षकों रंगो के मार्बल एवं ग्रेनाईट स्टोन स्टोमिन के आकर्षण को बढ़ाऐंगे।
खुलेंगे व्यापार विस्तार के नये रास्ते
स्टोमिन – 2017 के डायरेक्टर मुकेश शर्मा ने बताया कि राजसमन्द मार्बल एवं ग्रेनाइट बाजार में नवपीढ़ी का आगमन भी तेजी से हो रहा है ऐसे में उनको नवतकनिकी का ज्ञान निश्चिय ही व्यापार विस्तार तथा वृद्धि में सहयोग देगा। मार्बल एवं ग्रेनाईट उद्योग मे कई वर्षो से कार्य कर रहे उद्योगपतियों को जहां स्टोमिन मे अन्तर्राष्ट्रीय स्तर की मशीनों, नई तकनीक के बारे मे जानकारी मिलेंगी वही जो नये व्यापारी है, उनके लिए भी यह एक सुनहरा अवसर है कि स्टोमिन उन्हे व्यापार विस्तार के नये रास्ते खुलने का अवसर प्रदान करेगा।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *