चन्द्र भागा नदी का सीना छलनी कर चल रहा अवैध बजरी खनन का कारोबार

विभाग ने बजरी के अवैध परिवहन पर टैक्टर जब्त कर बनाया चालान


आमेट। राज्य मे बजरी खनन पर रोक हेतु सुप्रीम कोर्ट के सख्त निर्देश के बावजूद आमेट क्षेत्र में खनिज विभाग की मिलीभगत से चन्द्र भागा नदी पेटे में धडल्ले से बजरी खनन माफिया अवैध रूप से बजरी खनन का कारोबार कर भवन निर्माणकर्ताओं को तीन गुने दामों में बेचने में लगे हुए है। वही बीती रात्रि को खनिज विभाग के कर्मचारियों ने गश्त के दौरान बजरी का अवैध परिवहन करते एक ट्रेक्टर पकड कर 26,400 रूपये का चालान बनाया है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार करीब डेढ माह पूर्व सुप्रीम कोर्ट ने राज्य में बजरी खनन पर रोक के सख्त निर्देश जारी किये थे।इसके बावजूद बजरी खनिज माफिया सुप्रीम कोर्ट के आदेश को धता बताते हुए आमेट क्षेत्र की मुख्य एक मात्र नदी चन्द्र भागा के गांगागुडा, केनपुरिया, भीलमगरा, नयाखेडा,ढेलाणा, सेलागुडा, घोसुण्डी आदि क्षेत्र के पेटे से रात्रि को 9 से 12 बजे के मध्य बडी संख्या में डम्पर व ट्रेक्टर ट्रॉलियां भरकर आमेट कस्बे के अलावा आस पास के गांवों में धड़ल्ले से एक ट्रेक्टर टोली भरी बजरी पन्द्रह सौ से दो हजार रूपये की राशि में सप्लाई करने में लगे हुए हैं।
खनन माफियाओं द्वारा बेख़ौफ़ होकर धडल्लें से किये जा रहे अवैध बजरी खनन का प्रत्यक्ष प्रमाण आमेट नगर व ग्रामीण क्षेत्रों मे अनेक स्थानों पर सरकारी व निजी निर्माण कार्य स्थलों पर देखे जा सकते है। जिससे खनन विभाग की मिली भगत का अंदेशा नकारा नहीं जा सकता। जानकारी के अनुसार अवैध बजरी खननकर्ताओं से क्षेत्र के कुछ प्रभावशाली लोग चोथ वसुली कर अपनी जेबें भी भरने में लगे हुए है । ज्ञात हुआ कि अवैध रूप से चोथ वसूली वाले लोग ट्रेक्टर मालिकों से प्रत्येक ट्रेक्टर ट्रॉली पर चार सौ से पांच सौ रूपये तक की राशि वसूलने में लगे है।

गत रात्रि को खनिज विभाग के उड़न दस्ते ने आमेट के समीप भीलवाड़ा मार्ग पर अवैध रूप से बजरी भर कर ले जा रहे एक ट्रेक्टर को पकड कर केशुलाल पिता भीमालाल गमेती निवासी लिकी का 26 हजार 400 रूपये का चालान बनाया है। इधर, ग्रामीणों का आरोप है कि आमेट क्षेत्र के चन्द्र भागा नदी में हो रहे अवैध बजरी खनन के कारोबार में खनिज विभाग के कर्मचारियों की मिलीभगत होने से अवैध बजरी खननकर्ताओं व चोथ वसुली करने वालों के हौसलें बुलंद है।

ग्रामीणों ने राजसमंद जिला कलेक्टर से मांग की है कि अपने स्तर पर एक टीम गठित करवा रात्रि में गश्त करवा बजरी के अवैध खनन को रूकवाया जाये।

इनका कहना है।….
खनिज विभाग के उडन दस्ते द्वारा अवैध बजरी खनन को लेकर नियमित रूप से क्षेत्र में चेकिंग की जा रही है। अगर कोई पकड़ में आता है तो उसके खिलाफ कार्यवाही की जायेगी।-गोपाल बच्छ.खनि अभियन्ता आमेट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *