बजरी खनन करने वालों की खैर नहीं, जिला कलक्टर ने बनास नदी में अवैध खनन को देखा, पोकलेण्ड व ट्रेक्टर जब्त


राजसमन्द, 13 मई/राजसमन्द जिले में बजरी खनन के अवैध कारोबार पर अंकुश लगाने के लिए जिला प्रशासन ने और अधिक सख्ती बरतनी आरंभ कर दी है। इसके चलते अवैध बजरी खनन करने वालों पर ठोस कार्यवाही अमल में लाने और इसकी सूचना से जिला प्रशासन को अवगत कराने के निर्देश सभी संबंधित अधिकारियों को दिए गए हैं।
जिला कलक्टर अरविन्द कुमार पोसवाल ने इस बारे में जिले के अधिकारियों को बजरी खनन के मामले में तत्काल ठोस कार्यवाही करने और बजरी खनन करने वाले वाहनों और मशीनों की जब्ती करने के निर्देश दिए हैं और चेतावनी दी है कि इस मामले में ढिलाई बर्दाश्त नहीं की जाएगी।
जिला कलक्टर पोसवाल ने जिले के भ्रमण के दौरान गुंजोल क्षेत्र में बनास नदी में बजरी के खनन को देखा तथा वहां पहुंचकर आकस्मिक निरीक्षण किया। इस दौरान बजरी खनन पर खनन विभाग के अधिकारियों को बुलवाया तथा मौके पर पोकलेण्ड एवं ट्रेक्टर जब्त करवाया। इस ट्रेक्टर के बारे में तहकीकात करने पर सामने आया कि यह कृषि कार्यों के लिए ही वैध है जबकि इससे व्यवसायिक कार्य लिया जा रहा था। नाथद्वारा की उपखण्ड अधिकारी निशा भी इस दौरान उनके साथ थी।
जिला कलक्टर अरविन्द कुमार पोसवाल ने बजरी खनन की गतिविधियों पर पूरी तरह अंकुश लगाने के लिए जिले के सभी संबंधित प्रशासनिक अधिकारियों, पुलिस तथा खान विभाग के अधिकारियों को ठोस निर्देश दिए हैं और कहा है कि जिले में भ्रमण के दौरान इस पर निगाह रखी जाए तथा जहां कहीं ऎसी स्थितियां सामने आती हैं वहां तत्काल कार्यवाही कर संसाधन एवं मशीनों को भी जब्त कर लिया जाए।
तहसीलदार ने जब्त किया डम्पर –
नाथद्वारा की उपखण्ड अधिकारी निशा ने बताया कि उपखण्ड क्षेत्र भर में बजरी खनन के मामलों पर लगाम कसने तथा ठोस कार्यवाही करने के लिए व्यापक निगरानी रखते हुए ठोस कार्यवाही अमल में लाए जाने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि सोमवार को नाथद्वारा तहसीलदार बसन्त मीणा ने भी निरीक्षण के दौरान अवैध खनन करने पर एक डम्पर को जब्त किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.