प्रधानमंत्री कौशल विकास योजनान्तर्गत पूर्व कौशल और अनुभव प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारंभ युवा कौशल विकास से जुड़कर अपना जीवन एवं भविष्य बेहतर बनाएॅ — श्रीमती माहेश्वरी

राजसमन्द 04 मार्च। उच्च तकनीकी एवं संस्कृत शिक्षा, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री श्रीमती किरण माहेश्वरी ने कहा है कि जिले का रेलमगरा क्षेत्र तो खनन क्षेत्र है ही लेकिन राजसमन्द, देवगढ, भीम सहित सम्पूर्ण जिला ही खनन कार्य के लिए विख्यात है और यहंा पर राजस्थान ही नही वरन् सम्पूर्ण भारत वर्ष के मजदूर खनन कार्य में मजदूरी करते है। इसलिए हमारा लक्ष्य होना चाहिए कि यहंा के स्थानीय युवाओं को कौशल विकास में पारंगत बनाकर उन्हे रोजगार मुहैया कराया जाए ताकि युवाओं को रोजगार के लिए अपना जिला छोड़कर बाहर नही जाना पड़े। उन्होने सभी पात्र युवाओं को आह्वान किया कि कौशल विकास से जुड़कर अपना जीवन एवं भविष्य बेहतर बनाए।
श्रीमती माहेश्वरी शनिवार को जिले के रेलमगरा कस्बे में मॉ चावण्ड़ा माता परिसर में प्रधानमंत्री कौशल विकास योजनान्तर्गत पूर्व कौशल और अनुभव को मान्यता के तहत आयोजित हो रहे प्रशिक्षण कार्यक्रम के शुभारंभ अवसर पर आयोजित समारोह को मुख्य अतिथि पद से सम्बोधित कर रही थी।
उन्होने एन.एस.डी.सी., एस.सी.एम.एस. एवं मौजिक कम्पनी के प्रतिनिधियों से कहा कि आपके द्वारा जो पूर्व कौशल और अनुभव को मान्यता के संबंध में कार्य किया जा रहा है इसका सही मायने में तभी इस क्षेत्र को फायदा मिलेगा तब यहंा के स्थानीय वाशिन्दों को प्रशिक्षण में दक्ष किया जाकर उन्हे रोजगार के अवसर मिले।
श्रीमती माहेश्वरी ने कहा कि प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना केन्द्र सरकार की बहुत ही महत्वाकांक्षी योजना है जरूरत है तो सही टेªनर एवं टेªनिंग लेने वालों की सभी युवाओं से उनकी दिलचस्पी जानकर उसी अनुरूप उन्हे प्रशिक्षण दिया जाकर विभिन्न विद्याओं में दक्ष बनाए ताकि वे अपनी जिन्दगी संवार सके।
उन्होने युवाओं से आग्रह किया कि केन्द्र एवं राज्य सरकार विभिन्न विद्याओ में जिला एवं तहसील मुख्यालय पर कौशल विकास के तहत प्रशिक्षण आयोजित कर रही है हम सभी का दायित्व है कि इन विद्याओं में प्रशिक्षण प्राप्त कर दक्ष बने टेªनिंग लेगें तभी आगे जाकर टेªनर बन पाएगंे।
समारोह के प्रारंभ में मौजिक कम्पनी के मुख्य अधिकारी ए.के.भण्डारी ने श्रमिकों एवं युवाओं को प्रधानमंत्री कौशल विकास योजनान्तर्गत पूर्व कौशल और अनुभव को मान्यता के संबंध में विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि भारत वर्ष में 40 लाख से अधिक मजदूर वर्ग है और इस योजना का मुख्य उद्देश्य मजदूरों को एक मंच प्रदान करना है जिसके तहत मजदूरों को अनुभव के आधार पर कार्यो में प्राथमिकता प्रदान करना है।
कार्यक्रम के अंत में मौजिक कम्पनी के आदित्य वर्मा ने सभी का आभार व्यक्त किया। इस मौके पर मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिला परिषद सी.आर.मीणा, उपखण्ड अधिकारी शक्ति सिंह, तहसीलदार कालूलाल रेगर, विकास अधिकारी महेन्द्र सिंह झाला, उप प्रधान सुरेश जाट,सरपंच निशा चौधरी सहित जनप्रतिनिधि, सामाजिक कार्यकर्ता एवं आमजन उपस्थित थे।
फोल्डर का विमोचन:-
उच्च तकनीकी एवं संस्कृत शिक्षा, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री श्रीमती किरण माहेश्वरी एवं अतिथियों में प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के फोल्डर का विमोचन भी किया।
बस स्टेण्ड को पक्का बनाया जाएगा:-
उच्च तकनीकी एवं संस्कृत शिक्षा, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री श्रीमती किरण माहेश्वरी ने ग्राम पंचायत रेलमगरा की सरपंच श्रीमती निशा चौधरी एवं विकास अधिकारी महेन्द्र सिंह झाला को निर्देश दिए कि पंचायत के माध्यम से सम्पूर्ण बस स्टेण्ड परिसर रेलमगरा को इन्टर लोकिंग टाईल्सों से पक्का बनाने का कार्य शीघ्र लेकर पूर्ण करें।
रेलमगरा में शीघ्र आई.टी.आई.का सपना पूर्ण होगा:-
उच्च तकनीकी एवं संस्कृत शिक्षा, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री श्रीमती किरण माहेश्वरी ने रेलमगरा के वासियों को बताया कि रेलमगरा में आई.टी.आई.खोलने के प्रस्ताव राज्य सरकार को प्रेषित कर दिए गए है संभवतया बजट में रेलमगरा को आई.टी.आई.मिल जाएगा।






Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *